Friday, 23 February, 2024

---विज्ञापन---

‘जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने के पक्ष में नहीं थे RJD-JDU, कहा था…’, नीतीश-लालू पर अमित शाह का तंज

Amit Shah Muzaffarpur Visit: करीब 22 मिनट के अपने भाषण में अमित शाह ने बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का एक बार भी नाम नहीं लिया।

Edited By : Om Pratap | Updated: Nov 5, 2023 16:02
Share :
Amit Shah Muzaffarpur Visit
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। -फाइल फोटो

Amit Shah Muzaffarpur Visit JDU RJD Nitish Kumar Lalu Yadav: केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने रविवार को मुजफ्फरपुर में एक सभा के दौरान नीतीश कुमार और लालू यादव पर जमकर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि लालू यादव की पार्टी राजद और नीतीश कुमार की जदयू, जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाने के पक्ष में नहीं थी। दोनों की पार्टियों ने कहा था कि अगर धारा 370 हटाई गई तो खून की नदियां बह जाएंगी। लालू जी, खून की नदियां छोड़ो, किसी की कंकड़ चलाने की हिम्मत नहीं हुई।

अमित शाह ने नीतीश कुमार को पलटू राम बताते हुए उन पर जमकर निशाना साधा। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि 2014 में बिहार की जनता ने नरेंद्र मोदी को 31 सीटें दी थी। 2019 में 39 सीटें दी थी, 1 की कमी रह गई थी, अब 2024 में आम चुनाव हैं, बिहार की जनता से अपील है कि इस बार 40 की 40 सीटें पीएम मोदी की झोली में डाल दीजिए। अमित शाह ने कहा कि इससे भी बड़ी विनती ये है कि 2025 में इस बार बिहार में भाजपा सरकार बनानी है, क्योंकि आपने जब-जब आशीर्वाद दिया एक पलटू राम ने प्रधानमंत्री बनने के लिए बिहार के जनादेश के साथ द्रोह किया।

बिहार में जातीय सर्वे की रिपोर्ट जारी होने के बाद अमित शाह पहली बार बिहार आए। उन्होंने मुजफ्फरपुर के पताही मैदान में जनसभा को संबोधित किया। केंद्रीय गृह और सहकारिता मंत्री अमित शाह  ने कहा कि बिहार पलटूराम और जंगलराज से मुक्त हो, इसी मिशन पर पर बीजेपी काम कर रही है।

22 मिनट के भाषण में नहीं लिया तेजस्वी यादव का नाम

करीब 22 मिनट के अपने भाषण में अमित शाह ने बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव का एक बार भी नाम नहीं लिया। वहीं, बिहार के मुख्यमंत्री को निशाने पर लेते हुए अमित शाह ने कहा कि नीतीश बाबू अब आप कहीं के नहीं रहे, तेल और पानी कभी इक्ट्ठा नहीं रहते। आगे देखिए, लालूजी आपकी क्या हालत करने वाले हैं। आप पीएम बनने का तो छोड़िए, INDI अलायंस के संयोजक भी नहीं बन पाए। मैने पहले ही आपको चेताया था, पर आप नहीं मानें।

शाह ने जातीय सर्वे की रिपोर्ट पर सवाल उठाया

जातीय गणना की चर्चा करते हुए अमित शाह ने कहा कि महागठबंधन की सरकार ने एक सर्वे रिपोर्ट पेश किया है। बीजेपी ने भी इसका समर्थन किया था, लेकिन तब उन्हें नहीं पता था कि लालू यादव के दबाव में आकर नीतीश कुमार सर्वे की रिपोर्ट में भी गड़बड़ी करेंगे। यह रिपोर्ट नहीं, सिर्फ छलावा है। अमित शाह ने कहा कि लालू के दवाब मे आकर नीतीश कुमार की सरकार ने यादव और मुस्लिम समाज की आबादी को बढा़कर दिखाया है। लालू-नीतीश की सरकार ने पिछड़ा और अति पिछड़ा की आबादी को कम करके ठगी की है।

अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी ने पिछड़ा समाज का सम्मान बढ़ाया है। उन्होंने अपने मंत्रिमंडल में 27 ऐसे मंत्रियों को रखा है, जो पिछड़ा समाज से हैं। 35 फीसदी से ज्यादा ओबीसी मंत्री है। मोदी सरकार ने ओबीसी आयोग को संवैधानिक मान्यता दी है। अमित शाह ने कहा कि बिहार में सिर्फ तुष्टिकरण की राजनीति हो रही है। भाषण के दौरान अमित शाह ने लोगों से पूछा कि आपको 2G घोटाला करने वाले कांग्रेस की सरकार चाहिए या 5G देने वाले नरेंद्र मोदी की सरकार? बिहार में केंद्र सरकार की ओर से किए जा रहे कामों को भी अमित शाह ने गिनाया। उन्होंने मुजफ्फरपुर में कैंसर हॉस्पिटल, दरभंगा एयरपोर्ट का विस्तारीकरण और दरभंगा एम्स की चर्चा की।

शाह बोले- अयोध्या में राम मंदिर का निमंत्रण देने आया हूं

अमित शाह ने कहा कि वे मुजफ्फरपुर और बिहार के लोगों को अयोध्या में 22जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होने का निमंत्रण देने आए हैं। 22 जनवरी देशभर के मंदिरों में आरती होगी। सभी लोग उसमे शामिल हो। अमित शाह ने लोगों से पूछा कि अयोध्या में मंदिर बननी चाहिए थी या नहीं? लोगों ने हाथ उठाकर हां कहा, तब अमित शाह ने कहा कि ये INDI गठबंधन वाले लोग वर्षों से इसको लटकाकर रखे हुए थे।

First published on: Nov 05, 2023 04:02 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें