Saturday, 20 April, 2024

---विज्ञापन---

अजब एमपी की गजब पुलिस: हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए पंडोखर सरकार के दरबार में लगाई हाजिरी, बाबा बोला- एक नाम न लूं…

विपिन श्रीवास्तव, भोपाल: मध्यप्रदेश पुलिस के एएसआई की एक हत्या के मामले की गुत्थी बाबा के यहां सुलझानी उस वक्त महंगी पड़ी, जब वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने संज्ञान लेते हुए सस्पेंड कर थाना प्रभारी को लाइन अटैच कर दिया। मामला छतरपुर जिले के बमीठा का है, जहां पदस्थ एएसआई अशोक शर्मा एक […]

Edited By : Pushpendra Sharma | Updated: Aug 18, 2022 19:13
Share :
MP police

विपिन श्रीवास्तव, भोपाल: मध्यप्रदेश पुलिस के एएसआई की एक हत्या के मामले की गुत्थी बाबा के यहां सुलझानी उस वक्त महंगी पड़ी, जब वीडियो वायरल होने के बाद एसपी ने संज्ञान लेते हुए सस्पेंड कर थाना प्रभारी को लाइन अटैच कर दिया। मामला छतरपुर जिले के बमीठा का है, जहां पदस्थ एएसआई अशोक शर्मा एक हत्या के मामले की गुत्थी को सुलझाने के लिए दतिया स्थित पंडोखर सरकार के दरबार में अर्जी लगाने पहुंच गया। बाबा पंडोखर सरकार से बमीठा थाना क्षेत्र के ओटा पुरवा में हरीराम अहिरवार की 17 वर्षीय बेटी का शव 28 जुलाई को कुएं में मिला था। मृतक के परिजनों ने गांव के युवक रवि अहिरवार, गुड्डा उर्फ राकेश अहिरवार, अमन अहिरवार पर हत्या किए जाने के आरोप लगाए थे।

बाबा ने कहा- एक नाम लूं
इस गुत्थी को सुलझाने के लिए एएसआई अशोक शर्मा बाबा पंडोखर सरकार के पास पहुंचा थ, जिस पर पंडोखर सरकार ने कहा कुछ नाम हैं, उन नामों में से एक नाम को मैं ना बोलूं तो समझ लो वही है। बाकी नहीं है तुम्हारे रिकॉर्ड में दर्ज होंगे, ध्यान से सुनना। रवि अहिरवार, राकेश,अमन, अब ढूंढ़ लेना कौन है। तुमने उन लोगों को उठाया है, उनसे पूछा है उनमें से कोई एक है जिसका मैंने नाम नहीं लिया उससे ही रहस्य खुलेगा। तुम जितने नाम लिख कर लाए हो उनमें से एक नाम मैनें नहीं बोला वहीं से सुराग लगेगा। एक व्यक्ति मझगुवां क्षेत्र का होगा, उसी से राज खुलेगा।

चाचा को हिरासत में लेते मच गया बवाल
जिसके बाद एएसआई अशोक शर्मा वापस अपने थाने पहुंचा और थाना प्रभारी को पूरी बात बताई। जिसके बाद थाना प्रभारी ने उस व्यक्ति के परिजन को बुलाया जिसके बारे में पंडोखर सरकार ने बोला था। थाना प्रभारी पंकज शर्मा ने वीडियो दिखाते हुए 17 वर्षीय मृतका संजना अहिरवार के चाचा तीरथ अहिरवार को आरोपी मान कर हिरासत में लेते हुए जेल भेजने की कार्यवाही की। जिसके विरोध में ग्रामीणों के साथ परिजन एसपी ऑफिस शिकायत लेकर पहुंच गए और पूरी आपबीती सुनाई। जिसके बाद एसपी सचिन शर्मा ने वीडियो के अनुसार एएसआई अशोक शर्मा को सस्पेंड कर दिया। साथ ही बमीठा थाना प्रभारी पंकज शर्मा को लाइन अटैच करते हुए आगे की जांच करने के लिए खजुराहो एसडीओपी मनमोहन सिंह बघेल को जिम्मेदारी दी गई है।

First published on: Aug 18, 2022 07:13 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें