Sunday, November 27, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

आश्रम फ्लाईओवर विस्तार का निर्माण कार्य नवम्बर तक पूरा कर जनता को समर्पित करेंगे: पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार आश्रम और उसके आस-पास के इलाके को जममुक्त बनाने की दिशा में युद्धस्तर पर काम कर रही है

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार आश्रम और उसके आस-पास के इलाके को जममुक्त बनाने की दिशा में युद्धस्तर पर काम कर रही है और जल्द ही ये पूरा स्ट्रेच जाममुक्त हो जाएगा। यहां चल रहा आश्रम फ्लाईओवर का विस्तार कार्य नवम्बर तक पूरा हो जाएगा। इसके बनने से आश्रम चौक और डीएनडी के बीच की 3 रेड लाइट कम हो जाएंगी, जिससे वाहनों का आवागमन सुगम हो जाएगा।

शनिवार को उपमुख्यमंत्री व पीडब्ल्यूडी मंत्री मनीष सिसोदिया ने इसका ऑन-साईट निरीक्षण कर निर्माण कार्यों के प्रगति की जाँच की व इंजिनियरों को यहां अतिरिक्त क्रेन लगाकर काम को डबल स्पीड से पूरा करने के निर्देश दिए ताकि यहां से गुजरने वाले लोगों को ट्रैफिक से छुटकारा मिले| श्री सिसोदिया ने कहा कि इतनी व्यस्त सड़क के बीचों-बीच फ्लाईओवर बनाना बेहद मुश्किल काम था लेकिन हमारे पीडब्ल्यूडी इंजीनियर्स ने इसे संभव कर दिखाया।

उन्होंने कहा कि आश्रम फ्लाईओवर विस्तार का निर्माण कार्य नवम्बर तक पूरा कर जनता को समर्पित करेंगे। इस फ्लाइओवर का काम पूरा होने के बाद नोएडा के साथ दिल्ली के अन्य हिस्सों से दक्षिणी दिल्ली आने-जाने वाले लाखों लोगों को ट्रैफिक जाम से छुटकारा मिलेगा।

इंजिनियरों ने पीडब्ल्यूडी मंत्री को निरीक्षण के दौरान बताया कि इस रोड पर वाहनों का लोड बहुत ज्यादा है जिस कारण उन्हें कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। इंजिनियरों ने बताया कि फ्लाईओवर के सभी पिलर खड़े किए जा चुके है और अब यहां उनपर गार्डर डालने का काम किया जा रहा है, जिसके लिए बड़ी क्रेनों का इस्तेमाल किया जाता है और इन क्रेनों को काम करने के लिए बड़ी जगह चाहिए और यह तभी संभव है जब रोड को बंद किया जाए।

ऐसे में दिनभर वाहनों के आवागमन के कारण यहां ट्रैफिक पुलिस द्वारा काम करने के लिए मिली इजाजत केवल रात 12 बजे से सुबह 5 बजे तक की ही है और यदि इस दौरान भी ट्रैफिक बढ़ता है तो ट्रैफिक पुलिस के बोलने पर काम बंद कर दिया जाता है।

इंजिनियरों ने बताया कि यहां मौजूद पिलरों पर कुल 146 गार्डर डाले जाने है लेकिन मौजूदा चुनौतियों के कारण यहां 1 दिन में बमुश्किल 2-3 गार्डर ही लग पाते है। अबतक यहां कुल 56 गार्डर डाले जा चुके है और 90 गार्डर लगना बाकी है।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पीडब्ल्यूडी अधिकारियों को निर्देश दिए कि निर्माण कार्य में तेजी लाने के लिए अब यहां अतिरिक्त क्रेनों को लगाकर गार्डर डालने का काम डबल स्पीड से किया जाए ताकि यह फ्लाईओवर विस्तार जल्द बनकर पूरा हो और यहां से गुजरने वाले लोगों को ट्रैफिक का सामना न करना पड़ें।

इस मौके पर सिसोदिया ने कहा कि आश्रम के इस पूरे रोड स्ट्रेच पर ट्रैफिक की काफी समस्या होती है ऐसे में इस फ्लाईओवर विस्तार के पूरा हो जाने के बाद यहां से गुजरने वाले लोगों को ट्रैफिक की समस्या से निजात मिलेगा। उन्होंने कहा कि और इस रोड पर भारी ट्रैफिक होने और ट्रैफिक रोकने की इजाजत न होने के बावजूद रोड के बीचों-बीच फ्लाईओवर बनाना बेहद मुश्किल काम था।

इंजिनियरों को यहां रोज केवल 4-5 घंटे काम करने का समय मिलता है, यह बेहद मुश्किल भरा काम था लेकिन हमारे इंजिनियरों ने संभव कर दिखाया और अब नवम्बर में निर्माण कार्य पूरा होने के बाद हम जनता को यह फ्लाईओवर समर्पित कर देंगे।

बता दे कि इस परियोजना को कैबिनेट से मंजूरी मिलने के बाद फ्लाईओवर विस्तार का निर्माण कार्य जून 2020 में शुरू हुआ था लेकिन उसके बाद कोरोना व लॉकडाउन तथा प्रदुषण के दौरान निर्माण गतिविधियों के बंद रहने के कारण लम्बे समय तक फ्लाईओवर के विस्तार का कार्य रुका रहा तथा यहां निर्माण कार्य के लिए ट्रैफिक पुलिस से भी 1 साल में इजाजत मिली जिससे निर्माण कार्य की गति धीमी रही।

गौरतलब है कि फ्लाईओवर विस्तार का कार्य पूरा होने के बाद इससे आश्रम चौराहे और आसपास के इलाके में ट्रैफिक को कम करने में मदद मिलेगी। इस फ्लाइओवर का काम पूरा होने के बाद नोएडा के साथ दिल्ली के अन्य हिस्सों से दक्षिणी दिल्ली आने-जाने वाले लाखों लोगों को ट्रैफिक जाम से छुटकारा मिलेगा।

वर्तमान में नोएडा व गाजियाबाद से दक्षिणी दिल्ली आने-जाने वाले वाहनों को डीएनडी लूप से आश्रम चौराहे तक जाने के लिए जाम से जूझना पड़ता है। लेकिन फ्लाईओवर के पूरा होने के बाद लोगों को इस जाम से मुक्ति मिलेगी। अभी वाहनों को किलोकरी से सडक़ पार करने के लिए काफी लम्बा रूट लेना होता है लेकिन फ्लाईओवर के बनने के बाद किलोकरी से रिंग रोड पर केवल डेढ़ सौ मीटर चलने के बाद यू-टर्न लेकर वाहन चालक सडक़ पार कर सकेंगे और महारानी बाग या दक्षिणी दिल्ली की ओर जा सकेंगे। इसी तरह महारानी बाग से सराय काले खां, नोएडा,आईटीओ और गाजियाबाद जाने वाले वाहनों को लिए लंबा चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। यहां पैदल यात्रियों के लिए सब-वे का निर्माण भी किया जा रहा है।

आश्रम फ्लाईओवर विस्तार की विशेषताएं

-परियोजना की कुल लागत 128.25 करोड़ रुपए
-6 लेन का आश्रम विस्तार फ्लाईओवर
-3 लेन रैंप दक्षिणी दिल्ली से सराय काले खां जाने के लिए
-3 लेन रैंप आईटीओ व सराय काले खां से दक्षिणी दिल्ली जाने के लिए
-महारानी बाग रेड लाइट पर पैदल यात्रियों के लिए बन रहा है सब वे
-एलईडी लाइटो से जगमगाएगा फ्लाईओवर
-पिलर पर किया जाएगा आर्ट वर्क
-रैंप समेत फ्लाईओवर की कुल लंबाई 1425 मीटर

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -