Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

इस महीने अंतरिक्ष में नजर आएंगे अद्भुत नजारे, बिना दूरबीन के देख सकेंगे शुक्र, शनि, और दो बौनी आकाशगंगाएं

NASA: खगोलविदों के लिए मई माह कई रोचक अनुभव लेकर आ रहा है। जहां एक ओर इस माह पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण हो रहा है, वहीं दूसरी ओर कई ग्रहों का गोचर भी होगा जो समस्त भूमंडल के प्राणियों पर अपना प्रभाव डालेगा। अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने ट्विटर पर एक वीडियो जारी करते हुए इस […]

Edited By : Sunil Sharma | Updated: May 10, 2023 15:48
Share :
NASA Whatsup May

NASA: खगोलविदों के लिए मई माह कई रोचक अनुभव लेकर आ रहा है। जहां एक ओर इस माह पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण हो रहा है, वहीं दूसरी ओर कई ग्रहों का गोचर भी होगा जो समस्त भूमंडल के प्राणियों पर अपना प्रभाव डालेगा। अमरीकी अंतरिक्ष एजेंसी NASA ने ट्विटर पर एक वीडियो जारी करते हुए इस महीने घटने वाली प्रमुख खगोल घटनाओं की एक लिस्ट भी जारी की है।

यह भी पढ़ें: Science News: नासा के इंजेन्यूटी हेलिकॉप्टर ने मंगल पर पूरी की 50 उड़ानें

  • 5 मई को पूर्णिमा पर खंडग्रास चंद्रग्रहण होगा। यह विश्व के अधिकतर हिस्सों में दिखाई देगा, यद्यपि भारत में यह दृश्य नहीं होगा।
  • 13 मई को सूर्योदय से कुछ घंटे पहले ही शनि ग्रह चंद्रमा के साथ उदय होगा। अतंरिक्ष के सितारों के नजारे देखने वालों के लिए यह एक अद्भुत नजारा होगा।
  • 17 मई को चंद्रमा गुरु ग्रह के साथ उदय होता हुआ दिखाई देगा। इस घटना को कई दक्षिण अमरीकी राज्यों में सुबह के समय स्पष्ट तौर पर देखा जा सकेगा।
  • 22 से 24 मई तक सूर्यास्त के बाद चंद्रमा, शुक्र और मंगल ग्रह पश्चिमी दिशा में एक सीधी रेखा में दिखाई देंगे। चन्द्रमा दोनों ग्रहों के बीच दिखाई देगा।

यह भी पढ़ें: Science News: अध्ययन में दावा, जीव-जंतु भी करते हैं आपस में बातें

शुक्र भी चमकेगा जगमग सितारे सा 

गत काफी समय से शुक्र ग्रह आसमान में लगातार अपनी दिशा बदलते हुए ऊपर की ओर जा रहा है। मई माह में यह भी अंतरिक्ष में अपने उच्चतम बिंदु पर पहुंच जाएगा जहां इसे बिना किसी दूरबीन की सहायता के देखा जा सकेगा। इसके बाद यह वापस नीचे की ओर लौटने लगेगा और जून में धीरे-धीरे नीचे आते हुए जुलाई माह में दिखना बंद हो जाएगा। इसके बाद अगस्त माह में एक बार शुक्र पूर्वी आकाश में दिखाई देगा।

इस समय अंतरिक्ष से पूरे ब्रह्माण्ड का बहुत ही अद्भुत दृश्य दिखाई देगा। यदि आप किसी ऐसे स्थान (जैसे जंगल या सुदूर गांव) पर जाए जहां बिल्कुल रोशनी न हो तो दक्षिण दिशा में आपको बिना किसी दूरबीन या अन्य उपकरण के ही दो आकाशगंगाएं दिखाई देंगी। ये दोनों ही बौनी आकाशगंगाएं हैं जो हमारी मिल्की वे आकाशगंगा की परिक्रमा कर रही है।

First published on: May 03, 2023 12:13 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें