---विज्ञापन---

भाजपा कार्यालय के बाहर लगाई ‘भारत माता’ की मूर्ति अफसरों ने हटाई, कहा- चेतावनी के बाद भी…

Bharat Mata Statue Removed: पुलिस और रेवेन्यू अफसरों ने कार्रवाई करते हुए तमिलनाडु भाजपा दफ्तर के बाहर लगी भारत माता की मूर्ति को हटा दिया है। भाजपा ने तमिलनाडु के विरुधुनगर जिले में पार्टी दफ्तर के बाहर भारत माता की मूर्ति स्थापित की थी। उधर, अफसरों ने कहा कि मूर्ति को बिना अनुमति के लगाया गया […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Aug 9, 2023 14:49
Share :
tamil nadu Police, revenue officials remove Bharat Mata statue from BJP office.
तमिलनाडु पुलिस, राजस्व अधिकारियों ने तमिलनाडु भाजपा कार्यालय से भारत माता की मूर्ति हटाई।

Bharat Mata Statue Removed: पुलिस और रेवेन्यू अफसरों ने कार्रवाई करते हुए तमिलनाडु भाजपा दफ्तर के बाहर लगी भारत माता की मूर्ति को हटा दिया है। भाजपा ने तमिलनाडु के विरुधुनगर जिले में पार्टी दफ्तर के बाहर भारत माता की मूर्ति स्थापित की थी। उधर, अफसरों ने कहा कि मूर्ति को बिना अनुमति के लगाया गया था जो हाई कोर्ट के निर्देश और प्रदेश सरकारी की ओर से जारी आदेश के खिलाफ था।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, भाजपा ने 9 से 11 अगस्त के बीच विरुधुनगर में प्रवेश करने वाली तमिलनाडु भाजपा प्रमुख के अन्नामलाई की ‘एन मन, एन मक्कल’ पदयात्रा से पहले जिला पार्टी मुख्यालय में काले पत्थर से बनी भारत माता की मूर्ति स्थापित की थी। भाजपा ने मूर्ति को हटाने की कार्रवाई की निंदा की है।

यह भी पढ़ेंयह भी पढ़ेंनियम तोड़ने वाली कंपनियों पर लगेगा भयंकर जुर्माना, जानें क्या है डेटा प्रोटेक्शन बिल, जो लोकसभा से हुआ पास?

चेतावनी के बावजूद हटाने से किया इनकार

अधिकारियों ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं को राजस्व अधिकारियों की ओर से मूर्ति हटाने की चेतावनी दी गई थी, लेकिन उन्होंने आदेशों का पालन करने से इनकार कर दिया। पार्टी कार्यकर्ताओं की ओर से तर्क दिया गया कि तर्क देते हुए कि भूखंड के पास उचित दस्तावेज थे और यह जिला भाजपा का था और कहा कि यह पार्टी का आंतरिक मामला था।

उधर, घटना की निंदा करते हुए, तमिलनाडु भाजपा प्रमुख के अन्नामलाई ने कहा कि यह कदम जिले के दो डीएमके मंत्रियों के डर का नतीजा है क्योंकि हमारी ‘एन मन, एन मक्कल’ यात्रा डीएमके सरकार के भ्रष्टाचार को उजागर कर रही है।

एक भाजपा पदाधिकारी ने कहा कि हमें पूरा यकीन है कि इसके पीछे द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (डीएमके) है और वे अपने राजनीतिक प्रतिशोध के लिए पुलिस और राजस्व अधिकारियों का इस्तेमाल कर रहे हैं। हमारे थलाइवर (नेता) अन्नामलाई को विरुधुनगर में अपनी पदयात्रा सफलतापूर्वक पूरी करने से कोई नहीं रोक सकता। ये बेहद चौंकाने वाली और शर्मनाक बात है कि लोग इस राज्य में अपनी मर्जी से भारत माता की मूर्ति भी स्थापित नहीं कर सकते।

बता दें कि विरुधुनगर भाजपा मुख्यालय उन दस पार्टी कार्यालयों में से एक था जिसका उद्घाटन इस साल मार्च में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने किया था।

और पढ़िए – देश से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहां पढ़ें 

First published on: Aug 09, 2023 11:34 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें