Saturday, 20 April, 2024

---विज्ञापन---

बंगाल के मंत्री अखिल गिरि की बढ़ सकती हैं मुश्किलें, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू पर टिप्पणी के खिलाफ BJP ने दर्ज कराई शिकायत

नई दिल्ली: भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने पश्चिम बंगाल के मंत्री और टीएमसी नेता के अखिल गिरि के खिलाफ नॉर्थ एवेन्यू पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। बता दें कि अखिल गिरि ने नंदीग्राम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। चटर्जी ने आईपीसी और एससी-एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Nov 13, 2022 12:03
Share :

नई दिल्ली: भाजपा सांसद लॉकेट चटर्जी ने पश्चिम बंगाल के मंत्री और टीएमसी नेता के अखिल गिरि के खिलाफ नॉर्थ एवेन्यू पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई है। बता दें कि अखिल गिरि ने नंदीग्राम में राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

चटर्जी ने आईपीसी और एससी-एसटी अधिनियम की धाराओं के तहत गिरि के खिलाफ तत्काल कार्रवाई और प्राथमिकी दर्ज करने का अनुरोध किया है। भाजपा सांसद ने ये भी मांग की है कि मामले को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी चीफ ममता बनर्जी को बयान देना चाहिए।

भाजपा संसद ने कहा कि अखिल गिरि उनकी सरकार में मंत्री हैं, उन्हें उन्हें तुरंत बर्खास्त करना चाहिए, उन्हें दिल्ली आकर माफी मांगनी चाहिए। बता दें कि इससे पहले केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने भी अखिल गिरि के बयान को लेकर उनपर निशाना साधा था। स्मृति ईरानी ने अखिर गिरि के बयान को लेकर TMC को आड़े हाथों लिया। उन्होंने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से पूछा कि वे बताएं कि अखिल गिरी पर क्या एक्शन लिया गया?

बंगाल के मंत्री ने क्या कहा था

बता दें कि पश्चिम बंगाल के मंत्री अखिल गिरि ने नंदीग्राम में एक सभा में पश्चिम बंगाल में विपक्ष के नेता सुवेंदु अधिकारी के बारे में शर्मनाक टिप्पणी की थी। इसी दौरान उन्होंने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू का नाम लिए बिना कहा था कि वे (सुवेन्दु अधिकारी) कहते हैं कि मैं सुंदर नहीं हूं, आप कितने सुंदर हैं! हम किसी को उनकी शक्ल से नहीं आंकते हैं, हम भारत के राष्ट्रपति के कार्यालय का सम्मान करते हैं। लेकिन हमारे राष्ट्रपति कैसे दिखते हैं।

बयान के बाद मंत्री ने माफी भी मांगी थी

मंत्री अखिल गिरि के बयान के बाद बंगाल से लेकर दिल्ली तक राजनीति गर्मा गई थी। सोशल मीडिया पर उनके बयान का वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा ने उन्हें आड़े हाथों लिया था। उधर, मामला बढ़ता देख शनिवार को अखिल गिरि ने अपने बयान पर माफी मांगी थी।
बंगाल के मंत्री ने कहा था कि उन्हें अपने बयान पर खेद है। वे संविधान और राष्ट्रपति पद का वह सम्मान करते हैं। उन्होंने कहा कि मैंने राष्ट्रपति का नाम नहीं लिया। अगर भारत के राष्ट्रपति इसके बारे में अपमानित महसूस करते हैं, तो मुझे खेद है और मैंने जो कहा उसके लिए माफी मांगता हूं।

First published on: Nov 13, 2022 12:01 PM
संबंधित खबरें