Monday, February 6, 2023
- विज्ञापन -

Latest Posts

Azadi Ka Amrit Mahotsav: आजादी के लिए 15 अगस्त का ही दिन क्यों चुना गया, जानें इससे जुड़ी बड़ी बातें

Azadi Ka Amrit Mahotsav:

Azadi Ka Amrit Mahotsav: भारत आज ब्रिटिश शासन से आजादी के 75 साल पूरे होने का जश्न मना रहा है। देश आज 76वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। आज ही के दिन 15 अगस्त 1947 को भारत अंग्रेजों के गुलामी की बेड़ियों को तोड़कर आजाद हुआ था। भारतीयों के लगातार तेज होते विरोध को देखते हुए भारत के आखिरी वायसराय लॉर्ड माउंटबेटन ने 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता दिवस तय करने का फैसला किया था।

दरअसल ब्रिटिश संसद ने लॉर्ड माउंटबेटन को 30 जून 1948 तक भारत की सत्‍ता भारतीयों को हस्तांतरित करने का पूरा अधिकार दे दिया था। लॉर्ड माउंटबेटन को साल 1947 में भारत के आखिरी वायसराय के तौर पर नियुक्त किया गया था और उन्होंने ही भारत की आजादी के लिए 15 अगस्त की तारीख का चयन किया था।

लॉर्ड माउंटबेटन 15 अगस्त की तारीख को शुभ मानता था इसीलिए उसने भारत की आजादी के लिए इस तारीख का चयन किया था। लॉर्ड माउंटबेटन 15 अगस्त को शुभ मानता था क्योंकि दूसरे विश्व युद्ध के दौरान वह संयुक्त सेना का कमांडर था और 15 अगस्त, 1945 को जापानी सेना ने उसके सामने समर्पण किया था।

बताया जाता है कि जिन्ना ने भारत के अलग पाकिस्तान देश बनाने की मांग कर दी जिसके चलते देश के विभिन्न भागों में साम्प्रदायिक झगड़े शुरू हो गये। इससे पहले कि हालात और बिगड़ते, आजादी 1948 में देने की योजना में बदलाव करते हुए 1947 में ही भारत को आजादी दे दी गयी।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -