---विज्ञापन---

Ganga Vilas Video: दो दिन बाद इस शहर से शुरू होगा सबसे लंबा ‘रिवर क्रूज’, 5 राज्यों से गुजरेगा, अद्भुत होगा ये 51 दिनों का सफर

Ganga Vilas Video: देश की नदियों का एक यादगार सफर शुरू होने जा रहा है, जो भारत की शान में चार चांद लगाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 जनवरी को दुनिया के सबसे लंबे रिवर क्रूज ‘Ganga Vilas’ को हरी झंडी दिखाएंगे। यह विश्व विरासत स्थलों सहित 50 से अधिक पर्यटन स्थलों का टूर करते हुए […]

Edited By : Nitin Arora | Updated: Jan 11, 2023 12:20
Share :

Ganga Vilas Video: देश की नदियों का एक यादगार सफर शुरू होने जा रहा है, जो भारत की शान में चार चांद लगाएगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 13 जनवरी को दुनिया के सबसे लंबे रिवर क्रूज ‘Ganga Vilas’ को हरी झंडी दिखाएंगे। यह विश्व विरासत स्थलों सहित 50 से अधिक पर्यटन स्थलों का टूर करते हुए वाराणसी से डिब्रूगढ़ तक बांग्लादेश के माध्यम से यात्रा करेगा। क्रूज सुंदरबन डेल्टा और काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान सहित राष्ट्रीय उद्यानों और अभयारण्यों से भी गुजरेगा।

जलमार्ग मंत्री ने दी ये जानकारी

बंदरगाह, नौवहन और जलमार्ग मंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने कहा, ‘काशी से सारनाथ तक, माजुली से मयोंग तक, सुंदरबन से काजीरंगा तक, यह क्रूज जीवन भर का अनुभव प्रदान करेगा। मेरा मानना है कि प्रधानमंत्री मोदी जी के मार्गदर्शन में यह अद्भुत पहल, भारत में नदी क्रूज पर्यटन में एक नए युग की शुरुआत है और नीति और अभ्यास दोनों के माध्यम से एक्ट ईस्ट को सक्षम करने के लिए हमारी सरकार की प्रतिबद्धता को मजबूत कर रही है।’

गंगा विलास यात्रा भारत की दो सबसे बड़ी नदियों, गंगा और ब्रह्मपुत्र सहित 3,200 किलोमीटर की दूरी तय करने के लिए 51 दिनों में भागीरथी-हुगली और वेस्ट कोस्ट नहर सहित कुल 27 नदियों की यात्रा करते हुए वाराणसी से बांग्लादेश होते हुए डिब्रूगढ़ तक रवाना होगी।

और पढ़िए – BOI Interest Rate Hike: अच्छी खबर! बैंक ऑफ इंडिया ने फिक्स्ड डिपॉजिट पर बढ़ाई ब्याज दरें, कुछ स्पेशल लोगों को होगा फायदा

गंगा विलास क्रूज की विशेषताएं

क्रूज में संगीत, सांस्कृतिक कार्यक्रम, जिम, स्पा, खुली हवा में अवलोकन कर सकेंगे, व्यक्तिगत बटलर सर्विस आदि जैसी सुविधाएं हैं। लक्जरी रिवर क्रूज में 18 सुइट्स के साथ 80 यात्रियों की क्षमता है।

आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार, यह ‘एक अद्वितीय डिजाइन और भविष्य की दृष्टि से निर्मित है।’ यह ‘कोलकाता की हुगली नदी के किनारे वाराणसी की गंगा नदी के किनारे स्थित विभिन्न प्रमुख स्थलों में घूमेगा।’

गंगा विलास क्रूज यात्रा का कार्यक्रम

  • पूर्व में जारी डिटेल्स के अनुसार यात्रा वाराणसी से शुरू होकर 8वें दिन बक्सर, रामनगर और गाजीपुर होते हुए पटना पहुंचेगी।
  • पटना से क्रूज कोलकाता के लिए रवाना होगा और 20वें दिन फरक्का और मुर्शिदाबाद होते हुए वहां पहुंचेगा।
  • अगले दिन यह ढाका के लिए रवाना होगा और बांग्लादेश की सीमा में प्रवेश करेगा जहां यह अगले 15 दिनों तक रहेगा।
  • अंत में, यह सिबसागर के माध्यम से नौकायन करने और डिब्रूगढ़ में अपने अंतिम गंतव्य तक पहुंचने से बाद गुवाहाटी के माध्यम से भारत वापस आ जाएगा।

और पढ़िए –  New Registration Law: नई संपत्ति का रजिस्ट्रेशन और ट्रांसफर को लेकर आया नया कानून, जुर्माने को लेकर बड़ा अपडेट

बौद्ध मठ से मस्जिद की सुंदरता देखने का मौका

फोर्ब्स के अनुसार, जहाज पर आए लोग वाराणसी से लेकर पृथ्वी के सबसे पुराने शहरों में से एक परित्यक्त बौद्ध मठ विक्रमशिला तक के प्रमुख स्थलों का दौरा करेंगे।

और पढ़िए – e-Pay Tax service: ई-फाइलिंग पोर्टल पर ई-पे टैक्स सर्विस के लिए उपलब्ध हैं ये बैंक, ताजा सूची जारी

यात्रा के बांग्लादेश चरण में उन्हें अन्य ऐतिहासिक और सांस्कृतिक रूप से महत्वपूर्ण स्थानों के बीच सोनारगांव के भूत शहर और अलंकृत 1400 के युग की साठ गुंबद मस्जिद की सुंदरता देखने का मौका मिलेगा। बता दें कि पैकेज का किराया मूल्य ₹ 1,12,000 से शुरू होगा। स्विस पर्यटकों को अगले कुछ वर्षों के लिए सभी टिकट बेचे जा चुके हैं, जिन्होंने प्रत्येक सुइट के लिए 38 लाख रुपये का भारी भरकम भुगतान किया है। यह ध्यान देने योग्य है कि कीमतें कम से कम 1.5 साल पुरानी हैं क्योंकि यह उस समय से है जब कंपनी ने सौदा बंद किया था।

और पढ़िए – बिजनेस से जुड़ी अन्य बड़ी ख़बरें यहां पढ़ें

First published on: Jan 10, 2023 01:08 PM
संबंधित खबरें