Wednesday, 21 February, 2024

---विज्ञापन---

China Taiwan News: 68 चीनी विमानों और 13 युद्धपोतों ने मध्य रेखा को किया पार

नई दिल्ली: अमेरिका की स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद चीन बुरी तरह भड़का हुआ है। आलम यह है कि चीन ताइवान में एक के बाद एक लड़ाकू विमान भेजकर ताइवान में दहशत फैलाने की कोशिशों में जुटा है। शुक्रवार को ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि 68 चीनी विमानों और 13 […]

Edited By : Pushpendra Sharma | Updated: Aug 5, 2022 18:31
Share :

नई दिल्ली: अमेरिका की स्पीकर नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद चीन बुरी तरह भड़का हुआ है। आलम यह है कि चीन ताइवान में एक के बाद एक लड़ाकू विमान भेजकर ताइवान में दहशत फैलाने की कोशिशों में जुटा है। शुक्रवार को ताइवान के रक्षा मंत्रालय ने कहा कि 68 चीनी विमानों और 13 युद्धपोतों ने मध्य रेखा को पार कर लिया। रक्षा मंत्रालय ने कहा है कि चीनी लड़ाकू विमानों और युद्धपोतों ने ताइवान जलडमरूमध्य की मध्य रेखा को पार किया है। रक्षा मंत्रालय ने इसे अत्यधिक उत्तेजक कार्रवाई बताया है।

नैंसी पेलोसी की ताइवान यात्रा के बाद से भड़के चीन ने ताइवान की खाड़ी में बड़ा सैन्य अभ्यास भी शुरू किया है। चीनी सेना ने ताइवान की सीमा के करीब कई मिसाइलें भी दागी हैं। गुरुवार को खबर थी कि कई मिसाइलें जापान जाकर गिरीं। जापान के विदेश मंत्री नोबुओ किशी ने ताइवान के आसपास चीन के सैन्य अभ्यास को तत्काल रोकने का आह्वान किया। चीन द्वारा दागी गई पांच बैलिस्टिक मिसाइलें जापान के विशेष आर्थिक क्षेत्र (ईईजेड) में गिरी थी।

क्या है मध्य रेखा
मेडियन लाइन या मध्य रेखा चीन और ताइवान के बीच एक अनौपचारिक लेकिन एक बार बड़े पैमाने पर पालन की जाने वाली सीमा है जो ताइवान स्ट्रेट के बीच में चलती है, जो ताइवान और चीन को अलग करती है। यह शीत युद्ध के दौरान दो विरोधी पक्षों के बीच उन्हें चित्रित करने और संघर्ष के जोखिम को कम करने के तरीके के रूप में आया था। किसी भी समझौते या संधि ने कभी भी इसकी स्थिति को मजबूत नहीं किया, लेकिन दशकों से इसने ताइवान और चीन की सेनाओं को अलग रखने में मदद की है।

तनाव के समय में चीन समय-समय पर युद्धपोतों या विमानों को लाइन में भेजता था, जिससे ताइवान के विरोध का सामना करना पड़ता था। पिछले दो वर्षों में, चीनी अधिकारियों ने सार्वजनिक रूप से आवाज उठाई है कि उनके विचार में मध्य रेखा मौजूद नहीं है। इस सप्ताह के अभ्यास के दौरान मध्य रेखा की घुसपैठ में बड़ी वृद्धि हुई है। ताइवान ने बुधवार और गुरुवार को जिन 49 विमानों की घुसपैठ की सूचना दी, उनमें से 44 में चीनी विमान शामिल थे जो मध्य रेखा को पार कर रहे थे। ताइवान की सेना ने शुक्रवार को यह भी कहा कि चीनी युद्धपोतों ने सीमा पार कर ली है।

First published on: Aug 05, 2022 06:11 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें