Thursday, 18 April, 2024

---विज्ञापन---

केदारनाथ धाम में Video या Reels बनाई तो पड़ेगा भारी; मंदिर समिति ने अब पुलिस को लिखा पत्र

Kedarnath Dham: उत्तराखंड की विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा के केदारनाथ धाम (Kedarnath Dham) में अब रील्स बनाना महंगा पड़ सकता है। मंदिर समिति की ओर से उत्तराखंड पुलिस के लिए एक पत्र लिखा गया है। इस पत्र में धाम पर रील्स बनाने वालों पर निगरानी और कठोर कार्रवाई के लिए अपील की गई है। समाचार […]

Edited By : Naresh Chaudhary | Updated: Jul 6, 2023 14:45
Share :
Videos and Reels, Kedarnath Dham, BKTC, Chardham Yatra, Uttarakhand News

Kedarnath Dham: उत्तराखंड की विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा के केदारनाथ धाम (Kedarnath Dham) में अब रील्स बनाना महंगा पड़ सकता है। मंदिर समिति की ओर से उत्तराखंड पुलिस के लिए एक पत्र लिखा गया है। इस पत्र में धाम पर रील्स बनाने वालों पर निगरानी और कठोर कार्रवाई के लिए अपील की गई है।

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, श्री बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) ने केदारनाथ धाम पुलिस को पत्र लिखा है। इसमें मंदिर के आसपास के क्षेत्र पर कड़ी निगरानी रखने और यूट्यूब शॉर्ट्स, वीडियो और इंस्टाग्राम रील्स बनाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने को कहा है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि ऐसी कोई घटना दोबारा न हो।

पत्र में समिति ने ये लिखा

श्री बद्रीनाथ केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) ने अपने पत्र में लिखा है कि श्री केदारनाथ मन्दिर परिक्षेत्रांतर्गत कुछ Youtuber/Instagram Influencer की ओर से धार्मिक भावनाओं के विपरीत यूट्यूब शॉर्ट, वीडियो और इंस्टाग्राम रील्स बनाई जा रही हैं। इस कारण यात्रा पर आए तीर्थयात्रियों के साथ देश-विदेश में रहने वाले हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंच रही है।

इस संबंध में उनकी अलग-अलग प्रतिक्रियाएं भी आ रही हैं। अतः श्री केदारनाथ मंदिर परिक्षेत्रांतर्गत धार्मिक भावनाओं के विपरीत ऐसा काम करने वालों पर कठोर निगरानी रखते हुए आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। बता दें कि अभी हाल ही में केदारनाथ धाम के कई वीडियो और रील्स सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे।

डीजीपी बोले- सख्त कार्रवाई होगी

उधर मामले को लेकर उत्तराखंड के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि अगर आप नफरत फैलाने वाले भाषण देंगे या फिर कानून व्यवस्था बिगाड़ने की कोशिश करेंगे तो ऐसी स्थिति में भी पुलिस कार्रवाई करेगी। हमने पहले भी एफआईआर की है और आगे भी करेंगे।

डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि मंदिर के कार्यों का प्रबंधन मंदिर समिति का काम है। अगर किसी के द्वारा कुछ ऐसा घटित होता है, जो अपराध के दायरे में आता है, तो पुलिस अपनी भूमिका निभाएगी। आरोपियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे।

उत्तराखंड-यूपी की खबरों के लिए यहां क्लिक करेंः-

First published on: Jul 06, 2023 02:24 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें