---विज्ञापन---

मध्य प्रदेश के इन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, प्रदेश में तीन दिन तक झमाझम बरसात की संभावना

MP Weather Updat: मध्य प्रदेश में कुछ दिनों की रुकावट के बाद अब एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। प्रदेश के कई जिलों में मौसम विभाग ने तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है। सबसे ज्यादा 21 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक शुक्रवार से एक […]

Edited By : Arpit Pandey | Updated: Jul 6, 2023 13:19
Share :
mp weather update news
mp weather update news

MP Weather Updat: मध्य प्रदेश में कुछ दिनों की रुकावट के बाद अब एक बार फिर बारिश का दौर शुरू हो गया है। प्रदेश के कई जिलों में मौसम विभाग ने तेज बारिश का अलर्ट जारी किया है। सबसे ज्यादा 21 जिलों में अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग के मुताबिक शुक्रवार से एक स्ट्रॉन्ग सिस्टम एक्टिव होगा, जिससे झमाझम बारिश होगी।

इन जिलों में भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग के मुताबिक नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, सिवनी, मंडला, बालाघाट, शिवपुरी, दतिया, भिंड, श्योपुरकलां, डिंडोरी, कटनी, जबलपुर में भारी बारिश का अलर्ट है। इसी तरह खरगोन, बड़वानी, अलीराजपुर, झाबुआ, धार, इंदौर और बुरहानपुर में भी भारी बारिश के आसार है। इसके अलावा कई जिलों में हल्की बौछारें पड़ने का सिलसिला भी जारी है।

तीन दिनों तक झमाझम बारिश के आसार

मौसम विभाग ने बताया कि मध्य प्रदेश में अगले तीन दिनों तक झमाझम बारिश के आसार हैं। बंगाल की खाड़ी में बने चक्रवात के आगे बढ़ने पर बारिश होगी। मध्यप्रदेश में अगले 72 घंटे बाद बारिश का स्ट्रॉन्ग सिस्टम एक्टिव होगा। जिससे जिससे इंदौर-उज्जैन संभाग में भारी बारिश की संभावना है। वहीं वातावरण में नमी बढ़ने के कारण फिलहाल प्रदेश के अधिकतर जिलों में बादल छाए हुए हैं।

एमपी में एक्टिव हैं मानसून

बता दें कि इस बार मानसून 24 जून को मध्य प्रदेश में एक्टिव हो गया था। जिसके बाद दो दिनों में ही मानसून ने पूरे प्रदेश को कवर कर लिया था। इसके बाद लगातार प्रदेश में कई दिनों तक झमाझम बारिश हुई है। फिलहाल प्रदेश में नदी नाले उफान पर हैं। ऐसे में लोगों को सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।

मानूसन की दस्तक के साथ बाढ़ की स्थिति में बचाव और राहत कार्य के लिए अलर्ट भी किया गया है। सेना, एनडीआरएफ और एसडीईआरएफ ने किया बचाव और राहत कार्य पूर्व अभ्यास भी किया है। अभ्यास के दौरान आर्मी एविएशन विंग के हेलीकॉप्टर भी रहे शामिल। भारतीय सेना, सुदर्शन चक्र कोर, एनडीआरएफ (राष्ट्रीय आपदा आपातकालीन राहत बल) और एसडीईआरएफ (राज्य आपदा आपातकालीन राहत बल) की टुकड़ियों ने किया अभ्यास। राहत कार्य से जुड़े इंजीनियर रेजीमेंट टॉस्क फोर्स, सेना के कमाण्डर पूर्व अभ्यास में हुए शामिल।

First published on: Jul 06, 2023 01:12 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें