Monday, November 28, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

मुजफ्फरनगर जेल में दिखी गंगा-जमुनी तहजीब, हिंदुओं के साथ 218 मुस्लिम कैदी भक्ति में लीन, रखा 9 दिन उपवास, देखें Video

जेल अधीक्षक ने कहा कि यहां की तस्वीर बदली है। बंदियों के आचरण और व्यवहार में यह साफ तौर पर देखने को मिल रहा है।

Muzaffarnagar News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुजफ्फरनगर जिले के कारागार (Muzaffarnagar Jail) की सांप्रदायिक सौहार्द वाली मिसाल पेश करती तस्वीर सामने आई है। यहां नवरात्र (Navratri 2022) के मौके पर कारागार में बंद सभी 218 मुस्लिम बंदियों (Muslim prisoners) ने भी नवरात्र के मौके पर उपवास (Fast) रखा। इतना ही नहीं पूजा-पाठ के साथ हर शाम माता की चौकी पर भजन भी गाए। जिला कारागार की यह खबर पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बन गई है। लोगों ने इसे हिंदू-मुस्लिम एकता का एक नायाब उदाहरण कहा है।

सभी के लिए फल, दूध और फलाहार की व्यवस्था

जेल अधीक्षक सीताराम शर्मा ने बताया कि वर्तमान में कारागार में 1104 हिंदू बंदी और 218 मुस्लिम बंदी हैं। नवरात्र के मौके पर इन सभी बंदियों ने व्रत रखा। जब यह बात उन्हें पता चली तो उन्होंने इन सभी बंदियों के लिए खाने-पीने के खास इंतजाम किए। व्रत रखने वाले बंदियों के लिए उन्होंने फल, दूध समेत कुट्टू से बने फलाहार की व्यवस्था कराई। जेल अधीक्षक ने कहा कि शाम को सभी बंदियों द्वारा भजन संध्या भी की जाती थी। माता के एक से एक भजन गाए जाते।

बंदियों के आचरण में भी बदलाव हुआ है

जेल अधीक्षक ने कहा कि यहां की तस्वीर बदली है। बंदियों के आचरण और व्यवहार में यह साफ तौर पर देखने को मिल रहा है। उन्होंने बताया कि बंदियों ने पूरे नौ दिन के उपवास रखे हैं। सभी ने पूरे भक्ति-भाव के साथ माता की उपासना की है। जेल परिसर में बनाए गए मंदिर में सभी लोग एक साथ माता के भजनों को गाते हैं। उन्होंने कहा कि यह प्रेम और सद्भावना का प्रतीक है। साथ ही कहा कि जेल में बंदियों के व्यवहार को बदससना भी हमारी प्राथमिकता होती है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -