Monday, 26 February, 2024

---विज्ञापन---

पाकिस्तान से आई सीमा हैदर क्या भारत में लड़ सकती है चुनाव? जानिये 5 बड़ी बातें

नई दिल्ली: पिछले एक महीने से भी अधिक समय से सुर्खियों में चल रहीं सीमा हैदर को लोकसभा चुनाव में बतौर प्रत्याशी उतारे जाने की बात सामने आ रही है। महाराष्ट्र आधारित रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई) के प्रवक्ता मासूम किशोर ने सीमा हैदर को चुनाव लड़ाने की बात कही है। ऐसे में सवाल उठना […]

Edited By : Om Pratap | Updated: Aug 5, 2023 08:55
Share :
Pakistan women Seema Haider, Sachin meena, Indian citizenship, Citizenship Amendment Act 2019, CAA
सीमा हैदर। फाइल फोटो

नई दिल्ली: पिछले एक महीने से भी अधिक समय से सुर्खियों में चल रहीं सीमा हैदर को लोकसभा चुनाव में बतौर प्रत्याशी उतारे जाने की बात सामने आ रही है। महाराष्ट्र आधारित रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया (आरपीआई) के प्रवक्ता मासूम किशोर ने सीमा हैदर को चुनाव लड़ाने की बात कही है। ऐसे में सवाल उठना लाजमी है कि क्या सीमा हैदर भारत में लोकसभा या विधानसभा चुनाव के अलावा कोई अन्य चुनाव लड़ सकती हैं? आइये जानते हैं कि भारत में लोकसभा या विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए क्या-क्या शर्तें पूरी करनी पड़ती हैं।

1. चुनाव लड़ने के लिए नागरिकता जरूरी
देश में नागरिकता पाने के लिए कानून के मुताबिक किसी विदेशी व्यक्ति की अगर किसी भारतीय से शादी हुई हो तो वह नागरिकता के लिए आवेदन करने का हकदार है। वहीं, इसके लिए उसे न्यूनतम 7 वर्ष तक देश में रहना होगा। ऐसे में सीमा हैदर को चुनाव लड़ने के लिए नागरिकता पाने के बावजूद 7 वर्ष तक इंतजार करना होगा।

ये भी पढे़ं: सीमा हैदर केस में बड़ी कार्रवाई: नेपाल बॉर्डर पर तैनात SSB के दो सुरक्षाकर्मी सस्पेंड

2. 25 वर्ष की उम्र होना अनिवार्य
देश में लोकसभा हो या फिर अन्य चुनाव प्रत्याशी का न्यूनतम 25 वर्ष का होना अनिवार्य है। वहीं, राज्यसभा सदस्य का चुनाव लड़ने के लिए न्यूनतम उम्र 35 वर्ष होनी चाहिए। जहां तक सीमा का प्रश्न है तो उसने खुद दावा किया है कि वह 27 वर्ष की है, लेकिन शुरुआत में यह जानकारी सामने आई थी कि उसकी उम्र 21 वर्ष है।

3. सीएए के तहत भी नहीं मिल सकती नागरिकता
केंद्र में सत्तासीन नरेन्द्र मोदी सरकार ने वर्ष 2019 नागरिकता कानून में संशोधन किया था। यह संसोधन होने के बाद पड़ोसी देश पाकिस्तान और अफगानिस्तान के साथ बांग्लादेश के अल्पसंख्यक शरणार्थियों को भारत में सिर्फ अल्पसंख्यकों को नागरिकता मिल सकती है। इसके साथ नागरिकता पाने के लिए समय 11 वर्ष से घटाकर 6 वर्ष कर दिया गया है।

4. नागरिकता के लिए 7 वर्ष तक देश में रहना अनिवार्य
सीएए के लागू होने के बाद पाकिस्तान, अफगानिस्तान और बांग्लादेश से आए अल्पसंख्यक को न्यूनतम 7 वर्ष तक भारत में रहना होगा। यह छूट इन तीन देशों के अल्पसंख्यकों को दी गई है, ऐसे में ईसाई, हिंदू, पारसी, जैन, सिख और बौद्ध धर्म के लोग ही यह लाभ ले सकेंगे। इस लिहाज से सीमा हैदर को भारत की नागरिकता मिलना मुश्किल है।

ये भी पढ़ें: शाइस्ता परवीन और जैनब के 12 करोड़ की डील से क्या है सीमा हैदर का कनेक्शन?

5. कैसे मिलती है भारतीय नागरिकता
26 जनवरी, 1950 के बाद देश में जन्म लेने वाला हर शख्स भारतीय नागरिक है। यह भी प्राविधान किया गया है कि 1 जुलाई, 1987 के बाद जन्मा हर व्यक्ति भारतीय नागरिक होगा। इसके लिए शर्त यह है कि भारत में जन्म लेने वाले शख्स के माता-पिता भारतीय नागरिक हों।

यहां पर बता दें कि रिपब्ल्किन पार्टी ऑफ इंडिया ने सीमा हैदर को पार्टी में शामिल होने का प्रस्ताव दिया है और आगामी चुनाव में पार्टी की तरफ से प्रत्याशी बनाने की बात कही है। इसके साथ ही पाकिस्तान से अपने प्रेमी सचिन मीणा के प्यार में अवैध तरीके से भारत में प्रवेश करने वाली सीमा को पार्टी प्रवक्ता बनाने की बात कही है।

First published on: Aug 05, 2023 08:42 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें