Tuesday, 27 February, 2024

---विज्ञापन---

2 छात्रों से हाथ-पांव पकड़वाए, प्रिंसिपल ने डंडे ही डंडे बरसाए, LKG स्टूडेंट को स्कूल में थर्ड डिग्री टॉर्चर

School Principal Beats LKG Student With Stick Brutally: LKG कक्षा के बच्चे के हाथ और पांव दूसरे छात्रों से पकड़वाए और फिर प्रिंसिपल ने उसकी टांगों-कमर पर डंडे बरसाए। छात्र को इतना टॉर्चर किया गया कि उससे अब चला भी नहीं जा रहा है। छोटे-से बच्चे को थर्ड डिग्री टॉर्चर देने का यह मामला पंजाब […]

Edited By : Khushbu Goyal | Updated: Sep 21, 2023 13:02
Share :
Principal Beats LKG Student
Principal Beats LKG Student

School Principal Beats LKG Student With Stick Brutally: LKG कक्षा के बच्चे के हाथ और पांव दूसरे छात्रों से पकड़वाए और फिर प्रिंसिपल ने उसकी टांगों-कमर पर डंडे बरसाए। छात्र को इतना टॉर्चर किया गया कि उससे अब चला भी नहीं जा रहा है। छोटे-से बच्चे को थर्ड डिग्री टॉर्चर देने का यह मामला पंजाब में सामने आया।

लुधियाना जिले की मुस्लिम कालोनी में बाल विकास स्कूल के प्रिंसिपल पर छात्र को बुरी तरह पीटने के आरोप लगे हैं। पीड़ित छात्र के परिजनों के मुताबिक, उनके बच्चे के साथ 2 दिन इसी तरह मारपीट हुई है। स्कूल के ही किसी बच्चे ने पिटाई का वीडियो बनाकर उन्हें दिखाया, जिसके आधार पर वे प्रिंसिपल के खिलाफ पुलिस शिकायत देंगे।

यह भी पढ़ें: बेंगलुरु में अगले 10 दिनों तक शराब की बिक्री पर पाबंदी, यहां जानें नियम और शर्तें

इतना पीटा कि चला भी नहीं जा रहा 

छात्र मुरतजा की माता साहिलुना खातून ने बताया कि उनका बेटा जब घर आया तो वह दर्द से कराह रहा था। जांच करने पर उसकी जांघों और बैक पर डंडों के निशान थे। बच्चे के पैरों के तलवे भी इतनी बुरी तरह से लाल थे कि उससे अच्छे से चला भी नहीं जा रहा था। पूछने पर बेटे ने पिटाई की कहानी सुनाई। इसके बाद परिजन तुरंत स्कूल पहुंचे।

प्रिंसिपल श्रीभगवान से पूछने पर उन्होंने बताया कि बच्चे ने किसी अन्य बच्चे को पेंसिल मारी थी। उस बच्चे के परिजन उनके पास शिकायत लेकर आए थे। छात्र मुरतजा को कई बार समझाया है कि वह शरारतें न करे, लेकिन वह मानता ही नहीं है। पेसिंल यदि किसी बच्चे को नाजुक जगह पर लग जाती तो मामला बिगड़ सकता है।

यह भी पढ़ें: Indian Railways की बड़ी घोषणा; ट्रेन हादसे में जान गंवाने वाले के परिवार को अब मिलेगा 10 गुना मुआवजा

प्रिंसिपल ने अपनी सफाई में कहा…

प्रिंसिपल श्रीभगवान ने कहा कि बच्चे मुरतजा के परिजन पहले भी कई बार उन्हें कह चुके हैं कि वह चैनी-खैनी का सेवन करता है। उसकी इस आदत को हटाएं। इसके लिए यदि कभी पिटाई करनी पड़े तो कर सकते हैं। प्रिंसिपल के मुताबिक, उन्होंने इतने जोर से डंडे नहीं मारे, जितना बड़ा परिवार मुद्दा बना रहा है। मुरतजा को डांटा जा रहा था।

प्रिंसिपल ने कहा कि डांटते ही वह रोने लगा। जमीन पर लिट गया। इसी कारण 2 छात्रों की मदद से उसे पकड़ा गया और उसे सजा दी। प्रिंसिपल के मुताबिक, उनके लिए मुरतजा भी बाकी बच्चों की तरह है। उन्होंने उसे किसी गलत मानसिकता के चलते नहीं मारा। उसके परिवार वाले जानबूझकर विवाद को तूल रहे हैं, जबकि बच्चे को डांटा गया था।

First published on: Sep 21, 2023 12:42 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें