Wednesday, 24 April, 2024

---विज्ञापन---

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मिले जर्मन चांसलर, राष्ट्रपति बोलीं-जर्मनी यूरोप में भारत का सबसे बड़ा व्यापार भागीदार

  नई दिल्ली: भारत के दौरे पर आए जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज ने शनिवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। यह मुलाकात राष्ट्रपति भवन में हुई। इस दौरान राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और जर्मनी के बीच एक दीर्घकालिक संबंध है, जो हमारे सामान्य मूल्यों और साझा लक्ष्यों पर आधारित है। उन्होंने कहा कि […]

Edited By : Amit Kasana | Updated: Feb 25, 2023 21:40
Share :
German Chancellor, Olaf Scholz, President, Draupadi Murmu, PM Modi, Delhi News
जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज और राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू

 

नई दिल्ली: भारत के दौरे पर आए जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज ने शनिवार को राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात की। यह मुलाकात राष्ट्रपति भवन में हुई। इस दौरान राष्ट्रपति ने कहा कि भारत और जर्मनी के बीच एक दीर्घकालिक संबंध है, जो हमारे सामान्य मूल्यों और साझा लक्ष्यों पर आधारित है। उन्होंने कहा कि हमारे द्विपक्षीय संबंधों में व्यापक क्षेत्र शामिल हैं।

जर्मनी भारत का दूसरा सबसे बड़ा विकास सहयोग भागीदार

राष्ट्रपति भवन द्वारा जारी बयान के मुताबिक राष्ट्रपति मुर्मू ने कहा कि जर्मनी यूरोप में भारत का सबसे बड़ा व्यापार भागीदार है और भारत में शीर्ष निवेशकों में भी शामिल है। उन्होंने कहा कि जर्मनी भारत का दूसरा सबसे बड़ा विकास सहयोग भागीदार भी है और उसने भारत की विकास यात्रा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

दिन में पीएम मोदी ने की थी मुलाकात 

इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के हैदराबाद हाउस में जर्मन चांसलर ओलाफ स्कोल्ज के साथ बैठक की। करीब एक घंटे तक चले इस बैठक के बाद प्रधानमंत्री मोदी और ओलाफ स्कोल्ज ने संयुक्त रूप से प्रेस को संबोधित किया। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रूस-यूक्रेन युद्ध को लेकर बड़ा बयान दिया। उन्होंने कहा कि भारत ने हमेशा से इस विवाद को बातचीत और कूटनीति के माध्यम से हल करने पर जोर दिया है।

दो दिवसीय भारत यात्रा पर हैं जर्मन चांसलर

जर्मनी के चांसलर ओलाफ शोल्ज शनिवार को दो दिवसीय भारत यात्रा पर दिल्ली पहुंचे हैं। यहां राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका स्वागत किया। इसके बाद दोनों नेताओं ने स्वच्छ ऊर्जा, कारोबार और नई प्रौद्योगिकी समेत अलग-अलग क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को प्रगाढ़ बनाने पर जोर दिया गया। इस बारे में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने ट्वीट कर कहा कि चांसलर शोल्ज की यात्रा बहु आयामी भारत-जर्मन सामरिक गठजोड़ को और गहरा बनाने का अवसर प्रदान करेगी।

First published on: Feb 25, 2023 09:33 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें