Sunday, December 4, 2022
- विज्ञापन -

Latest Posts

Shukrawar Ke Upay: शुक्रवार को इन उपायों से बदल जाएगी आपकी किस्मत, मां लक्ष्मी की कृपा से होगा धन लाभ

Shukrawar Ke Upay: आज साल 12 अगस्त 2022 और भाद्रपद महीने का पहला शुक्रवार है। शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी और वैभव-विलास का दिन माना जाता है।

Shukrawar Ke Upay: आज साल 2022 के अगस्त महीने का दूसरा और भाद्रपद महीने का पहला शुक्रवार है। सनातन हिन्दू धर्म में शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी (Goddess Lakshmi) और वैभव-विलास का दिन माना जाता है। शुक्रवार का दिन यानि की मां लक्ष्मी का दिन होता है। धन की देवी मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त करने के लिए विधिवत रुप से पूजा करते हैं। शुक्रवार का दिन मां लक्ष्मी की पूजा के लिए शुभ माना जाता है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, शुक्रवार के दिन कुछ उपाय करने से कुंडली में शुक्र ग्रह की स्थिति भी मजबूत होती है। शुक्र मजबूत होने से मान-सम्मान के साथ राजा की तरह व्यक्ति रहता है।

मान्यता के मुताबिक शुक्रवार के मां लक्ष्मी का मंत्र ‘ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं कमले कमलालये प्रसीद प्रसीद श्रीं ह्रीं श्रीं ॐ महालक्ष्मी नमः:’ का जाप करने से काफी लाभ मिलता है।

इस  दिन लक्ष्मी स्त्रोत, कनकधारा स्तोत्र या फिर श्री सूक्त का पाठ करना चाहिए। इससे धन का अभाव खत्म होता है और मां लक्ष्मी का आशीर्वाद हमेशा बना रहता है।

साथ ही इस मां लक्ष्मी को लाल बिंदी, चुनरी, चूड़िया सहित अन्य सोलह श्रृंगार अर्पित करना चाहिए। इससे सौभाग्य की वृद्धि होती है, साथ ही पति की उम्र लंबी होती है।

शुक्रवार के उपाय (Shukrawar Ke Upay)

– शुक्रवार के दिन सफेद रंग के कपड़े पहन कर मां लक्ष्मी के चित्र के सामने श्रीसूक्त का पाठ करें और कमल का फूल अर्पित करें। शुक्रवार के दिन पीले कपड़े में पांच पीली कौड़ी तथा थोड़ी की केसर, एक चांदी के सिक्के के साथ बांधकर अपनी तिजोरी में रखनी चाहिए। इससे कुछ ही दिनों में घर में धन आने लगता है और पुराने कर्जों से भी छुटकारा मिलता है।

– पति-पत्नी में तनाव रहता है तो शुक्रवार के दिन अपने शयनकक्ष में प्रेमी जोड़े की तस्वीर लगाएं। अगर आपने काम में रुकावट आ रही हो तो शुक्रवार के दिन काली चीटियों को चीनी डालें इसके साथ इस दिन घर से काम निकलते समय थोड़ा सा मीठा दही खाकर निकलें।

– शुक्रवार को माता लक्ष्मी के मंदिर में शंख, कौड़ी, कमल, मखाना और बताशा अर्पित करनी चाहिए। शुक्रवार को माता लक्ष्मी की पूजा करने से संपत्ति और संतान की प्राप्ति होती है। लक्ष्मी माता सौभाग्य के साथ स्वास्थ्य प्रदान करती हैं।

– कहते हैं घर में किसी भी समय लक्ष्मी जी आ सकती है लेकिन शाम का समय ऐसा होता है, जिस समय लक्ष्मी जी का आना संभव होता है इसलिए शाम के समय सारे घर (Home) की लाइट जला कर पूरे घर में रोशनी कर देना चाहिए।

– मां लक्ष्मी के समक्ष मोगरे का इत्र अर्पित करना चाहिए और रति और कामसुख के लिए गुलाब का इत्र चढ़ाना चाहिए। इसी के साथ देवी लक्ष्मी के सामने केवड़े का इत्र अर्पित करने से मानसिक शांति की प्राप्ति होती है।

– शुक्रवार के दिन सुबह के समय गो-माता को ताज़ी रोटी खिलाना चाहिए क्योंकि ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होगी और आप पर सदेव अपनी कृपा बनाये रखेंगी।

– घर में स्वच्छता का जरुर ध्यान दे क्योंकि इससे माता लक्ष्मी जरुर प्रसन्न होती है और साथ ही कभी शाम के समय घर में झाडू न लगाए इससे घर की लक्ष्मी बाहर चली जाती है।

– शुक्रवार के दिन उस जगह जाए जहां मोर नृत्य करते है और उसके बाद वहां की मिट्टी लाकर एक लाल रंग के कपड़े में बांधकर पवित्र जगह में रख दें और उसकी रोज पूजा करें धनलाभ होगा।

इसके अलावा और क्या करें (Shukrawar Ke Totke)

– घर में तुलसी का पौधा लगाएं और उसकी पूजा करें।
– श्वेत चंदन का तिलक करें।
– पानी में चंदन मिलाकर स्नान करें।
– चांदी का टुकड़ा या चंदन की लकड़ी नदी या नहर में प्रवाहित करें।
– सुगंधित पदार्थ का इस्तेमाल करें।
– संतान प्राप्ति के चाहवान दंपति हरसिंगार का पौधा घर में लगाएं तथा उसको ऐसे सींचे, जैसे अपने छोटे बच्चे की देखभाल करते हैं।

यदि आप शुक्रवार के दिन मां लक्ष्मी की उपासना करते हैं तो आपको एक नई ऊर्जा और शक्ति की प्राप्ति होगी और आपको इस समस्या से उभरने में मदद मिलेगी।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

Latest Posts

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -