---विज्ञापन---

छत्तीसगढ़ पुलिस और हिदायतुल्लाह विश्वविद्यालय के बीच साइन हुआ MoU, जानिए क्या बोले CM विष्णुदेव साय?

Chhattisgarh Police and Hidayatullah University Signed MoU: नए आपराधिक कानूनों पर पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों को ट्रेनिंग देने के लिए छत्तीसगढ़ पुलिस और हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के बीच MoU साइन किया गया है।

Edited By : Pooja Mishra | Updated: Mar 6, 2024 13:06
Share :
Chhattisgarh Police and Hidayatullah University Signed MoU
छत्तीसगढ़ पुलिस और हिदायतुल्लाह विश्वविद्यालय के बीच MoU साइन

Chhattisgarh Police and Hidayatullah University Signed MoU: छत्तीसगढ़ में भाजपा की विष्णुदेव साय सरकार राज्य में विकास कार्य के साथ कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने पर भी काम कर रही है। हाल ही में नवा रायपुर के पुलिस मुख्यालय में नए आपराधिक कानूनों पर पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों को ट्रेनिंग देने के लिए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की उपस्थिति में छत्तीसगढ़ पुलिस और नवा रायपुर के हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के बीच एक MoU साइन किया गया है। इस MoU के अनुसार, पुलिस अधिकारी और कर्मचारियों को नए कानूनों (भारतीय न्याय संहिता एवं भारतीय साक्ष्य अधिनियम, 2023) के लिए ट्रेनिंग दी जाएगी।

छत्तीसगढ़ पुलिस और हिदायतुल्लाह के बीच करार

इस मौके पर सीएम विष्णुदेव साय ने कहा कि छत्तीसगढ़ में इस नए कानून का परिदृश्य एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होंगा। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने अधिकारियों को नए अपराधिक कानूनों को लेकर अधिकारियों को व्यापक रूप से ट्रेनिंग देने के लिए हिदायतुल्लाह राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के साथ MoU साइन किया गया है। इस MoU के साइन होने से राज्य में कानूनी प्रणाली पहले से ज्यादा मजबूत होगी। इसके साथ ही छत्तीसगढ़ के नागरिकों के लिए न्याय सुनिश्चित करने में प्रतिबद्धता आएगी। सीएम साय ने कहा कि नई न्याय प्रणाली मानवीय संवेदनाओं को पहले स्थान पर रखती है। भारतीय न्याय प्रणाली के लिए यह एक बड़ा टर्निंग पॉइंट साबित हो रहा हैं, जिसके साथ देश में नए चैप्टर का शुभारंभ हो रहा है।

यह भी पढ़ें: चित्रकोट महोत्सव में शामिल हुए CM विष्णुदेव साय, 208.32 करोड़ रुपये के विकास कार्यों का किया लोकार्पण

डिप्टी सीएम का संबोधन 

वहीं इस मौके पर डिप्टी सीएम विजय शर्मा ने कहा कि जब से इन 3 कानूनों के संदर्भ में चर्चा शुरू हुई, उसी समय छत्तीसगढ़ सरकार ने भी इस पर विचार विमर्श कर कुछ खास निर्णय लिए, जिसमें महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में समुचित कार्रवाई के लिए महिला थाना की संख्या बढ़ाना शामिल है। इसके लिए सरकार के पहले बजट में ही जिलों में नए महिला थाना खोलने को लेकर प्रावधान है।

First published on: Mar 06, 2024 01:06 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें