Thursday, July 9, 2020

Coronavirus: खुली चीन की पोल, लैब में तैयार किया गया कोरोना वायरस!

कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में त्राहिमाम मचा हुआ है। लगातार संक्रमित होने वालों की संख्या और इससे जान गंवाने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस बीच में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित फ्रांस के एक वैज्ञानिक ने जो दावा किया है, वो हैरान करने वाला है। उन्‍होंने दावा है कि कोरोना वायरस को इंसानों ने लैब में तैयार किया है।

नई दिल्‍ली: कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में त्राहिमाम मचा हुआ है। लगातार संक्रमित होने वालों की संख्या और इससे जान गंवाने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस बीच में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित फ्रांस के एक वैज्ञानिक ने जो दावा किया है, वो हैरान करने वाला है। उन्‍होंने दावा है कि कोरोना वायरस को इंसानों ने लैब में तैयार किया है।

कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। चीन के वुहान शहर से शुरु हुआ कोरोना वायरस देखते ही देखते लगभग पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले चुका है। लेकिन अभी तक किसी को भी कोराना वायरस को लेकर सही-सही जानकारी नहीं है। किसी को अब तक ये मालूम नहीं है कि इस जानलेवा वायरस का जन्म आखिरकार कैसे हुआ। कुछ का मानना है कि इसके पीछे चीन का हाथ है तो कई लोगों का मानना है कि इसके पीछे कोई कहानी ज़रूर है, जिसके बारे में किसी को नहीं मालूम है।

इस बीच में जानलेवा कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका और चीन एक दूसरे पर लगातार निशाना साध रहे हैं। कौन सही है और कौन गलत, यह तय कर पाना काफी मुश्किल है। दोनों ही देश पिछले कुछ दिनों में कोरोना वायरस को लेकर आपस में ही उलझे पड़े हैं। लेकिन इन सारी बातों के बीच एक सवाल तो है कि आखिर इंसानों में कोरोना वायरस कैसे लोगों के बीच फैला।

फ्रांस के वैज्ञानिक ने जिस तरह का दावा किया है, उसके बाद से अमेरिका-चीन के बीच जारी विवाद को लोग काफी ज्यादा तूल दे रहे हैं। फ्रांस के जिस वैज्ञानिक ने ऐसा दावा किया है,उन्हें मेडिसिन में वायरस की पहचान के लिए नोबेल पुरस्कार से नवाजा जा चुका है।

फ्रांस के वैज्ञानिक ल्यूक मॉन्टैग्रियर का दावा क्या है…
दरअसल, कोविड-19 के जीनोम में एचआईवी के एलीमेंट मिले हैं और साथ ही उसमें मलेरिया के कुछ एलीमेंट भी मिले हैं। जिससे ये साबित होता है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति किसी लैब में की गई है और ये इंसानों का बनाया हुआ वायरस हो। एक इंटरव्यू के दौरान लूक मांटैग्नियर ने बताया कि एड्स बीमारी को फैलाने वाले एचआईवी वायरस की वैक्सीन बनाने की कोशिश में ये बेहद संक्रामक और घातक वायरस तैयार किया गया है। इसलिए नोवल कोरोना वायरस की जीनोम में एचआइवी के तत्वों और यहां तक कि मलेरिया के भी कुछ तत्व होने की आशंका है। SARS-CoV-2 एक हेरफेर किया हुआ वायरस है, जो गलती से वुहान की लैब से जारी किया गया। हालांकि इसकी अभी तक पूरी तरह पुष्टि नहीं हुई है।

ऐसा कहा जा रहा है कि वुहान लैब में चीनी वैज्ञानिक एड्स के टीके को बनाने के लिए कोरोना के वायरस का इस्तेमाल कर रहे थे। इसीलिए शुरुआती जांच में HIV RNA के टुकड़े SARS-CoV-2 जीनोम में पाये गये। हालांकि ये बात अभी तक कंफर्म नहीं हुई है, मगर इन दावों को सिरे से नकारा भी नहीं जा सकता क्योंकि ये क्लेम वायरस पर रिसर्च करने वाले एक सीनियर साइंटिस्ट का है। डॉ ल्यूक का तो मानना है कि वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी तो ऐसे वायरस बनाने में एक्सपर्ट है और साल 2000 से ही वहां इस तरह के वायरस पर रिसर्च चल रही है।

इससे पहले पिछले हफ्ते अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी कहा था कि नोवल कोरोना वायरस चीन के वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी की लैब में बनाया गया है। इस रिपोर्ट में दावा किया गया था कि यह वायरस इंसानों में चमगादड़ के जरिये आया है। दावा तो यहां तक किया गया था कि पेशेंट जीरो यानी पहला संक्रमित मरीज इसी लैब का एक कर्मचारी था, जो गलती से संक्रमित हो गया था।

दूसरी तरफ, चीन ने कोरोना वायरस बनाए जाने के आरोपों से इंकार करते हुए कहा कि वुहान इंस्ट्टटीयूट ऑफ वायरोलॉजी की पी4 लैब में घातक वायरसों पर रिसर्च होता है, लेकिन यह कोरी अफवाह है कि कोविड-19 का जन्म इसी प्रयोगशाला में हुआ है। चीन का दावा है कि हमारे काम करने के कायदे-कानून बेहद सख्त हैं, इसलिए हमें पूरा विश्वास है कि इस संस्थान से वायरस आ ही नहीं सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

BIG BREAKING: विकास दुबे उज्‍जैन में गिरफ्तार

नई दिल्‍ली: कानुपर के बिकरू गांव से 8 पुलिसकर्मियों की हत्‍या के बार फरार विकास दुबे को उज्‍जैन में गिरफ्तार कर लिया गया है।...

रेलवे में निजीकरण के आरोप पर बचाव में आये रेल मंत्री, कहा- इससे रोजगार के मौके और यात्री सुविधा बढ़ेगी

कुन्दन सिंह, नई दिल्ली: रेल मंत्रालय के द्वारा 109 रूट्स पर 151 प्राइवेट ट्रेन चलाए के निर्णय से उठे निजीकरण के सवाल के जवाब...

एक दूल्हे ने दो दुल्हनों से की शादी, दोनों हैं प्रेमिका

बैतूल: बैतुल जिले की घोडाडोंगरी ब्लॉक में केरिया गांव में युवक ने एक मंडप में अपनी दो प्रेमिकाओं के साथ सात फेरे लिये। इस...

विकास दुबे का सहयोगी प्रभात एनकाउंटर में ढेर, कल फरीदाबाद से किया था गिरफ्तार

नई दिल्‍ली: विकास दुबे यूपी पुलिस की गिरफ्त से अभी भी फरार है, लेकिन पुलिस उसके सहयोगी प्रभात को एनकाउंटर में मार गिराया है।...