TrendingNavratri 2024lok sabha election 2024IPL 2024UP Lok Sabha ElectionNews24PrimeBihar Lok Sabha Election

---विज्ञापन---

Haiti Violence: हथियारबंद गैंग ने बोला जेल पर हमला, आजाद कराए 4000 कैदी

Haiti Violence: पिछले कुछ साल से हिंसा का सामना कर रहे हैती में पिछले कुछ दिनों से यह दौर फिर तेज हुआ है। यहां की राजधानी में स्थित जेल पर गैंग ने हमला कर दिया और करीब 4000 कैदियों को आजाद करा दिया। यह घटना तब हुई है जब हिंसा को नियंत्रित करने के लिए यहां की सरकार केन्या की पुलिस को तैनात करने की तैयारी कर रही थी।

Edited By : Gaurav Pandey | Updated: Mar 4, 2024 09:08
Share :
Haiti Violence

Haiti Violence : कैरेबियाई देश हैती बीते कुछ दिनों से सामूहिक हिंसा का सामना कर रहा है। इसी बीच यहां की राजधानी पोर्ट-अउ-प्रिंस में स्थित मुख्य जेल पर हथियारबंद गैंग की ओर से धावा बोलने की खबर आई है। रिपोर्ट्स के अनुसार इस जेल में करीब 4000 कैदी थे जो अब आजाद हो गए हैं। इन कैदियों में वो लोग भी शामिल थे जिनका साल 2021 में हुई राष्ट्रपति जोवेनेल मोइस की हत्या से संबंध था। बता दें कि अमेरिका में सबसे गरीब देश हैती में पिछले कुछ वर्षों में हिंसा की स्थिति काफी गंभीर हुई है। यहां के गैंग प्रधानमंत्री एरियल हेनरी को हटाना चाहते हैं और राजधानी के लगभग 80 प्रतिशत हिस्से पर उनका ही नियंत्रण है।

प्रधानमंत्री को हटाने की मांग

बीते गुरुवार को यहां हिंसा का दौर फिर तेज हुआ जब प्रधानमंत्री नैरोबी के दौरे पर गए थे। उनकी यह यात्रा हैती में केन्या की मल्टीनेशनल फोर्स को भेजने के लिए चर्चा करने को लेकर थी। गैंग के लीडर और पूर्व पुलिस अधिकारी जिमी चेरिजियर ने प्रधानमंत्री को हटाने के लिए एक कोऑर्डिनेटेड हमला करने की घोषणा की थी। रिपोर्ट्स के अनुसार जिमी ने कहा कि राजधानी के सभी हथियारबंद गुट एकजुट हैं। बता दें कि हैती की राजधानी में हुई हत्या की कई घटनाओं के पीछे जिमी चेरिजियर का हाथ माना जाता है। जेल पर हमले की घटना के दौरान हुई गोलीबारी में चार पुलिस कर्मियों के मारे जाने की और पांच के घायल होने की खबर है।

2016 से नहीं हुए यहां चुनाव

रिपोर्ट्स के अनुसार हैती पुलिस ने सेना से जेल को सुरक्षित रखने के लिए मदद मांगी थी, लेकिन गैंग ने शनिवार को जेल पर हमला बोल दिया था। रविवार को भी जेल के दरवाजे खुले नजर आए और अधिकारियों का नामोनिशान तक देखने को नहीं मिला। बता दें कि हैती में साल 2016 के बाद से चुनाव नहीं हुए हैं। राष्ट्रपति मोइस पर भ्रष्टाचार के कई आरोप थे और उनके इस्तीफे की मांग भी उठ रही थी लेकिन वह पद छोड़ने के लिए तैयार नहीं थे। माना जाता है कि इसी वजह से उनकी हत्या हुई थी। इसके बाद तय हुआ था कि  चुनाव कराए जाएंगे और 7 फरवरी तक प्रधानमंत्री हेनरी पद छोड़ देंगे। लेकिन लेकिन अभी तक ऐसा नहीं हो पाया है।

केन्या की पुलिस करेगी मदद!

उल्लेखनीय है कि संयुक्त राष्ट्र ने जनवरी में कहा था कि हैती के गैंग की ओर से की जा रही हिंसा में पिछले साल 8400 से ज्यादा लोगों की जान गई थी। यहां साल 2023 में हत्या और अपहरण जैसी घटनाएं साल 2022 के मुकाबले दोगुनी रही थीं। बता दें कि मोइस की हत्या के बाद से ही यहां राष्ट्रपति का पद खाली पड़ा है। उधर, हालात को देखते हुए हैती में फ्रांस के दूतावास ने राजधानी में और उसके आस-पास न जाने की सलाह दी है। लगातार बढ़ रही हिंसा से निपटने के लिए यहां केन्याई फोर्स लगाने की तैयारी की जा रही है। इसे लेकर दोनों देशों के बीच एक समझौता भी हुआ है। अमेरिका ने भी इसके लिए आर्थिक मदद देने का ऐलान किया है।

ये भी पढ़ें: उत्तरी गाजा में भूखे लोगों पर इजराइल ने ढाया कहर

ये भी पढ़ें: हमास आतंकियों का खौफ, बोलना ही भूल गई बच्ची

ये भी पढ़ें: हिमालय के 90 फीसदी हिस्से में पड़ सकता है सूखा

First published on: Mar 04, 2024 08:07 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

---विज्ञापन---

संबंधित खबरें
Exit mobile version