Wednesday, July 8, 2020

कोरोना का जल्‍द होगा खात्‍मा, आखिरी चरण में यह 4 दवा

दुनिया में कोरोना वायरस महामारी के शुरुआत होने से ही वैज्ञानिक इसकी वैक्‍सीन पर काम कर रहे हैं। कई कोरोनो वायरस वैक्सीन उम्मीदवार मानव परीक्षणों के अंतिम चरण में पहुंच गए हैं, लेकिन अन्य बहुत पीछे नहीं हैं। हालांकि उनको ही सबसे ज्‍यादा फायदा होगा, जोकि वितरण के लिए तैयार है।

नई दिल्‍ली: दुनिया में कोरोना वायरस महामारी के शुरुआत होने से ही वैज्ञानिक इसकी वैक्‍सीन पर काम कर रहे हैं। कई कोरोनो वायरस वैक्सीन उम्मीदवार मानव परीक्षणों के अंतिम चरण में पहुंच गए हैं, लेकिन अन्य बहुत पीछे नहीं हैं। हालांकि उनको ही सबसे ज्‍यादा फायदा होगा, जोकि वितरण के लिए तैयार है।

कोरोना वायरस के लिए दुनिया में करीब 120 वैक्सीन पर काम चल रहा है। लेकिन चार वैक्सीन ऐसी हैं जो लगभग आखिरी चरण में हैं। इनमें एक अमेरिका, दो ब्रिटेन और एक चीन में तैयार हो रही है। ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं द्वारा विकसित एस्ट्राजेनेका वैक्‍सीन बनाने में सबसे आगे हैं। कंपनी को सितंबर तक ब्रिटेन में उसकी उपलब्ध होने की उम्मीद है।

एस्ट्रेजेनेका की एजेडडी 1222

एस्ट्रेजेनेका की वैक्सीन एजेडडी 1222 से दुनिया को काफी उम्मीदें हैं। इसलिए यूरोप के कई देश इस पर मिलकर काम कर रहे हैं। अब तक दो चरणों में यह सफल साबित हुई है और अब 800 लोगों पर इसका ट्रायल हो रहा है।

इस महीने की शुरुआत में फ्रांस, जर्मनी, इटली और नीदरलैंड ने वैक्सीन को साथ मिलकर बनाने पर काम किया है। वह चाहते थे कि दवा कंपनियां इस बात से सहमत हों कि विकसित किए गए किसी भी उत्पाद को यूरोपीय संघ में सुलभ और सस्ता बनाया जाए।

इंपीरियल कॉजेल में ट्रायल शुरू

इंपीरियल कॉलेज लंदन के वैज्ञानिक भी एक वैक्सीन पर काम कर रहे हैं। मिली जानकारी के अनुसार, मंगलवार को वैक्सीन का मानव परीक्षण शुरू हुआ और छोटी खुराक एक इंसान को दी गई। कॉलेज की ओर से जारी बयान में कहा गया कि वैक्सीन लेने वाला व्यक्ति बिल्कुल स्वस्थ है।

मॉडर्ना

अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना वैक्सीन बनाने के आखिरी चरण में पहुंच चुकी है। कंपनी के सीईओ स्टीफन बैंसेल ने कहा जुलाई में वैक्सीन का अंतिम ह्यूमन ट्रायल होगा। उन्हें 80-90 फीसदी तक इसमें सफलता मिलने की उम्मीद है। बैंसेल ने कहा कि हमें भरोसा है कि अमेरिकी ड्रग नियामक संस्था उन्हें जल्द वैक्सीन को बाजार में लाने की अनुमति दे देगी।

चीन की वैक्सीन को अंतिम ट्रायल की मंजूरी
चीन नेशनल बायोटेक ग्रुप की ओर से तैयार वैक्सीन को अंतिम ट्रायल की मंजूरी मिल गई है। चीन में कोरोना के गंभीर लक्षणों वाले मरीज अब बचे नहीं हैं, इसलिए कंपनी वैक्सीन का ट्रायल संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में करने जा रही है। वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि सितंबर या अक्तूबर अंतिम परीक्षण के बाद उनकी वैक्सीन को अनुमति मिल जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

कोरोना के बाद इंडिया से बाहर इंडिया का अद्भुत कारनामा, चीन और पाकिस्तान कर रहे स्यापा

नई दिल्ली। यूरोपियन यूनियन हो या फिर यूनाईटेड नेशंस हर तरफ भारत का बोलवाला है। अमेरिका, ब्रिटेन हो फिर रूस हर कोई भारत से...

नेपाल में उठा सियासी तूफान, चालबाज चीन ने राष्ट्रपति भवन को भी जाल में फंसाया

नई दिल्ली। चालबाज चीन ने नेपाल के राष्ट्रपति भवन को भी अपने जाल में फंसा लिया है। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग चाहते हैं...

सपना चौधरी ने इस गाने पर डांस से जीता फैंस का दिल, पागल हो गए लोग, देखें वीडियो

नई दिल्लीः हरियाणवी सिंगर (Haryanvi Dancer) और डांसर सपना चौधरी (Sapna Chaudhary) की पहचान किसी बॉलीवुड सिलेब्स से कम नहीं है। वो जब मंच...

लॉकडाउन में बुक कराए गये टिकटों का रिफंड नहीं दे रहीं एयरलाइंस, सुप्रीम कोर्ट ने जारी किया नोटिस

नई दिल्ली। कोरोना लॉकडाउन के दौरान बुक किए गये हवाई टिकटों की वापसी में एयर लाइन हीलाहवाली कर रही हैं। यात्रियों पर जबरन क्रेडिट...