Wednesday, July 8, 2020

टुकड़े-टुकड़े हो चीन, हांगकांग को लेकर बदला कानून, गृह युद्ध की आशंका

इस बैठक में ली केकियांग ने कहा कि हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा की सुरक्षा के लिए एक कानूनी प्रणाली और प्रवर्तन तंत्र स्थापित किया जाना चाहिए और ताइवान की स्वतंत्रता की मांग करने वाले अलगाववादी गतिविधियों को पूरी तरह से खारिज कर दिया जाना चाहिए। जिसके बाद यह पूरी तरह से साफ हो गया कि आने वाले समय में चीन दोनों देश हांगकांग और ताइवान के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार करेगा।

नई दिल्‍ली: दुनिया को कोरोना देने के बाद भी चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। चीन में वार्षिक संसदीय बैठक की शुरुआत हो रही है, जिसमें नेशनल पीप्लस कांग्रेस में क़रीब तीन हजार प्रतिनिधि शामिल हैं। इसमें ड्रैगन ने कोरोना के कारण देश की गिरती अर्थव्‍यवस्‍था के बारे में कोई जिक्र नहीं किया बल्‍कि सेना खर्च में बढ़ोत्तरी की है। यह पहली बार है जब चीन ने सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि का लक्ष्‍य निर्धारित नहीं करते हुए सैन्‍य खर्च बढ़ाया है।

चीन की इस मंशा को हांगकांग और ताइवान के खिलाफ आक्रामक रूप में देखा जा रहा है। वार्षिक संसदीय बैठक में बीजिंग ने अपने सैन्य खर्च में पिछले साल के मुकाबले 6.6 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की है, लेकिन नेशनल पीपुल्स कांग्रेस ने 2020 के लिए सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि का लक्ष्य निर्धारित नहीं किया है। चीन का सबसे महत्वपूर्ण वार्षिक राजनीतिक कार्यक्रम शुक्रवार को बीजिंग में चल रहा था।

इस बैठक में ली केकियांग ने कहा कि हांगकांग में राष्ट्रीय सुरक्षा की सुरक्षा के लिए एक कानूनी प्रणाली और प्रवर्तन तंत्र स्थापित किया जाना चाहिए और ताइवान की स्वतंत्रता की मांग करने वाले अलगाववादी गतिविधियों को पूरी तरह से खारिज कर दिया जाना चाहिए। जिसके बाद यह पूरी तरह से साफ हो गया कि आने वाले समय में चीन दोनों देश हांगकांग और ताइवान के खिलाफ कड़ा रुख अख्तियार करेगा। जानकारों का कहना है कि अगर चीन ने ऐसा किया तो वहां पर गृह युद्ध होने की संभावना पूरी तरह से बढ़ जाएगी, क्‍योंकि दोनों ही देशों ने चीन के एक देश, दो प्रणाली के प्रस्‍ताव का पूरी तरह खारिज कर दिया है।

चीन ने बढ़ाया रक्षा खर्च
देश के शीर्ष विधायी निकाय ने खुलासा किया कि चीन ने 2020 के लिए अपने सैन्य बजट को बढ़ाकर 2020 तक 1.27 ट्रिलियन युआन कर दिया है, जो पिछले साल की तुलना में 6.6 प्रतिशत ज्‍यादा है। रक्षा खर्च में इस वर्ष की वृद्धि ने 21वीं सदी में दो दशकों में सबसे ज्‍यादा है। 1999 में चीन का सैन्‍य खर्च 107.6 बिलियन युआन हुआ करता था, जो अब बढ़कर 12 गुना अधिक हो गया है।

हांगकांग कानूनी प्रणाली में करेगा बदलाव
चीन “एक देश, दो प्रणाली” और “हांगकांग के शासित हांगकांग के लोगों” के सिद्धांत को फिर से बदलने जा रहा है। इसके तहत हॉन्गकॉन्ग को लेकर लाए जा रहे नए सुरक्षा संबंधी क़ानून के तहत राजद्रोह और विरोध करने का अधिकार छीन लिया जाएगा। यह स्थिति इसलिए उकसाने वाली हो सकती है, क्योंकि चीन हांगकांन के चुने हुए प्रतिनिधियों की अनदेखी करके बदलाव को लागू कर सकता है।

हॉन्गकॉन्ग 1841 से 1997 तक ब्रिटेन की कॉलोनी था। लेकिन 1997 में ब्रिटेन ने उसे ‘वन कंट्री टू सिस्टम’ यानी एक देश और दो प्रणाली समझौते के तहत चीन को सुपुर्द कर दिया था जो 2047 तक लागू रहेगा। हालांकि हांगकांग के लोग अब इस मानने को तैयार नहीं है और वह पूरी तरह से स्‍वतंत्र होना चाहते हैं।

ताइवान में अलगाववादी गतिविधियों की अस्वीकृति
चीन ने ताइवान की स्वतंत्रता की मांग करने वाले अलगाववादी गतिविधियों के पूर्ण अस्वीकृति दी है। ताइवान की राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन ने दूसरी बार शपथ ग्रहण करने के दौरान कहा था कि वह एक देश, दो प्रणाली कानून के पक्ष में नहीं है और ताइवान पूर्ण रूप से स्‍वतंत्र है। जिसके बाद बीजिंग ने कहा है कि वह संप्रभुता के अपने दावे को मनवाने के लिए ताइवान पर बल प्रयोग का भी त्याग नहीं करेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चौबपुर के पूर्व एसओ विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा गिरफ्तार

मानस श्रीवास्‍तव, लखनऊ: आठ पुलिसवालों की हत्‍या करने के बाद विकास दुबे अभी भी पुलिस की गिरफ्त से फरार है। लेकिन उसको दबोचने के...

Covid-19 को रोकने के लिए सीएम योगी का सख्त कदम, मास्क नहीं पहना तो लगेगा इतने रुपये का जुर्माना

नई दिल्लीः कोरोना वायरस (CoronaVirus) का कहर पूरे भारत (India) में देखने को मिल रहा है, मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही...

RBSE 12th Science result 2020 Live updates: rajresults.nic.in पर जारी हुआ रिजल्ट, जानें कितने प्रतिशत छात्र हुए पास

RBSE 12th Science result 2020: राजस्थान बोर्ड के 12वीं के विद्यार्थियों के लिए एक खुशखबर सामने आई है। दरअसल राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने...

इस बार आईपीएल का आयोजन होगा या नहीं, गांगुली ने कही ये बड़ी बात

नई दिल्लीः भारत में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है, लगातार बढ़ते मामले चिंता बढ़ा रहे हैं। कोरोना के...