Wednesday, July 8, 2020

नहीं बाज आ रहा है चीन, किसी भी समय ताइवान पर कर सकता है हमला

नई दिल्‍ली: दुनिया को कोरोना देकर चीन अपने विस्‍तारवादी नीति को बढ़ाने में लगा हुआ है। चीन ने अपने यहां पर कोरोना को कंट्रोल कर लिया है जबकि दुनिया के दूसरे देश अभी इस महामारी से जूझ रहे हैं। ऐसे समय में चीन को अपनी चालबाजी के अनुकूल समय मिल गया है, जिसमें वह दूसरे देशों पर कब्‍जा करने में लगा हुआ है।

खबर आ रही है कि हांगकांग को लेकर नए कानून को बनाने के बाद चीन ने ताइवान की तरफ नजर घूमा दी है और इसके लिए वह ताइवान पर हमला भी कर सकता है। 29 मई को बीजिंग के ग्रेट हॉल ऑफ द पीपल में ली झांशु नेशनल पीपुल्स कांग्रेस (एनपीसी) स्थायी समिति के अध्यक्ष और जू किइलियांग जोकि केंद्रीय सैन्य आयोग के उपाध्यक्ष हैं, उनके सामने इस बात को रखा गया। बीजिंग के ग्रेट हॉल ऑफ द पीपुल में एंटी-सेशन लॉ की 15 वीं वर्षगांठ पर बोलते हुए ली ज़ोचेंग (संयुक्त कर्मचारी विभाग के प्रमुख और केंद्रीय सैन्य आयोग के सदस्‍य) ने साफ-साफ कहा कि अगर चीन के स्वतंत्र होने से रोकने का कोई अन्य तरीका नहीं होने पर ताइवान पर हमला किया जाएगा।

ताइवान को युद्ध की धमकी
देश के सबसे वरिष्ठ जनरलों में से एक ली ज़ोचेंग ने कहा, ‘ताइवान चीन का हिस्‍सा है और हमेशा से यह हमारा दावा रहा है। ताइवान जिस तरह की बातें पिछले कुछ दिनों से कर रहा है, उनको बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा। 2005 का कानून देश को ताइवान के खिलाफ सैन्य कार्रवाई के लिए कानूनी आधार देता है। उन्‍होंने कहा, ”अगर शांतिपूर्ण तरीके से ताइवान पुनर्मिलन की संभावना खो जाती है, तो सशस्त्र सेना ताइवान के लोगों सहित पूरे देश को पूरी तरह से नष्ट करने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी। हम बल उपयोग छोड़ने का वादा नहीं करते हैं और ताइवान स्ट्रेट में स्थिति को स्थिर और नियंत्रित करने के लिए सभी आवश्यक उपाय करने का विकल्प आरक्षित करते हैं।”

चीन ने कभी भी ताइवान को अपने नियंत्रण में लाने के लिए बल के उपयोग का त्याग नहीं किया है। बल्‍कि उसके सैन्‍य अधिकारी हमेशा समय-समय पर युद्ध की धमकी देते हुए दिख जाते हैं। चीन ने जिस समय पर यह टिप्पणी की है, उससे विशेष रूप से अंतर्राष्ट्रीय हंगामा खड़ा हो सकता है, क्‍योंकि उसने हाल ही में हांगकांग को लेकर जो कानून पास किया है, उससे दुनिया के कई देश उसके खिलाफ खड़े हो गए हैं जिनकी अगुवाई खुद अमेरिका कर रहा है।

ताइवान ने दिया करारा जवाब
चीन की इस धमकी के बाद ताइवान सरकार ने इस टिप्पणी की निंदा करते हुए कहा कि युद्ध की धमकी अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन है और ताइवान कभी भी पीपुल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना का हिस्सा नहीं रहा है। सरकार की तरफ से कहा गया कि ताइवान के लोग तानाशाही नहीं चुनेंगे और न ही हिंसा के लिए झुकेंगे। बल और एकतरफा निर्णय समस्याओं को हल करने का तरीका नहीं है।

हालांकि ताइवान ने निरंकुश चीन के साथ जाने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई है। ताइवान ने द्वीप के पास चीन के बार-बार सैन्य अभ्यास की निंदा की है और उच्च स्तर की स्वायत्तता के “एक देश, दो सिस्टम” मॉडल के चीन के प्रस्ताव को खारिज कर दिया है। राष्ट्रपति त्साई और उनकी डेमोक्रेटिक प्रोग्रेसिव पार्टी ने ताइवान में रिकॉर्ड जीत हासिल की है, जोकि बीजिंग के खिलाफ खड़ी थी।

ली चीन के वरिष्ठ अधिकारी
ली चीन के युद्ध के अनुभव वाले कुछ वरिष्ठ अधिकारियों में से एक हैं। उसने 1979 के वियतनाम युद्ध में हिस्सा लिया था। ताइवान चीन का सबसे संवेदनशील क्षेत्रीय मुद्दा है। बीजिंग का कहना है कि यह एक चीनी प्रांत है, और इस द्वीप के लिए ट्रंप प्रशासन के समर्थन की हम निंदा करते है।

इस मौके पर चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के तीसरे सबसे वरिष्ठ नेता और चीन की संसद के प्रमुख ली झांशु ने कहा कि गैर-शांतिपूर्ण साधन अंतिम विकल्प में से एक है। जबतक शांतिपूर्ण समाधान की थोड़ी सी भी संभावना होगी, हम सौ गुना प्रयास करेंगे। हालांकि उन्होंने कहा, “हम ताइवान की स्वतंत्रता और अलगाववादी ताकतों को कड़ी चेतावनी देते हैं, ताइवान की स्वतंत्रता का मार्ग एक मृत अंत की ओर जा रहा है। उसको इसके चुनौती देने पर कड़ी सजा दी जाएगी।”

चीन को ताइवान के राष्ट्रपति त्साई इंग-वेन पर गहरा संदेह है, जिस पर वह औपचारिक स्वतंत्रता की घोषणा करने पर अलगाववादी होने का आरोप लगाता है। त्साई का कहना है कि ताइवान पहले से ही एक स्वतंत्र देश है, जिसे चीन गणराज्य कहा जाता है। चीन की ओर से गुरुवार को चीनी शासित हांगकांग के लिए नए राष्ट्रीय सुरक्षा कानून पारित किए जाने के बाद से ताइवान की तरफ चीन का मूड और भी सख्‍त हो गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

सुशांत सिंह राजपूत को याद कर इमोशनल हुईं रश्मि देसाई, कहा-‘हम एक समय पर काफी अच्छे दोस्त थे’

मुंबई। बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत ने फैन्स, परिवार और उनके दोस्तों को कभी ना खत्म होने वाला सदमा दे दिया है।...

Corona Vaccine Update: कोरोना वैक्सीन बनाने में ये तीन देश सबसे आगे, भारत भी शामिल

नई दिल्ली: चीन के वुहान से चले वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Coronavirus) यानी कोविड 19 (Covid 19) संक्रमण से दुनियाभर के 200 से ज्यादा...

चौबपुर के पूर्व एसओ विनय तिवारी और बीट प्रभारी केके शर्मा गिरफ्तार

मानस श्रीवास्‍तव, लखनऊ: आठ पुलिसवालों की हत्‍या करने के बाद विकास दुबे अभी भी पुलिस की गिरफ्त से फरार है। लेकिन उसको दबोचने के...

Covid-19 को रोकने के लिए सीएम योगी का सख्त कदम, मास्क नहीं पहना तो लगेगा इतने रुपये का जुर्माना

नई दिल्लीः कोरोना वायरस (CoronaVirus) का कहर पूरे भारत (India) में देखने को मिल रहा है, मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही...