Thursday, July 9, 2020

अमेरिका: अश्वेत की हत्या के बाद भड़की हिंसा बेकाबू, राष्ट्रपति ट्रंप को बंकर में छिपना पड़ा

नई दिल्ली: अमेरिका में अश्वेत नागरिक जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस हिरासत में मौत के बाद भड़की हिंसा लगातार तेज होती जा रही है। इस हिंसा ने राजधानी वॉशिंगटन समेत कई शहरों को अपने चपेट में ले लिया है। वाइट हाउस के पास लगातार तीसरे दिन विरोध प्रदर्शन के बेकाबू होने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) को अंडरग्राउंड बंकर में लेकर जाना पड़ा। राष्ट्रपति ट्रंप ने बंकर में लगभग एक घंटा बिताया और उसके बाद उन्हें ऊपर लाया गया। अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप और उनके बेटे बैरन को भी बंकर में ले जाया गया था।

अमेरिका में अश्वेत की हत्या के बाद हालात बेकाबू हो गए हैं। वॉशिंगटन समेत 40 शहरों में कर्फ्यू लगा दिया गया है। प्रदर्शनकारियों की जगह-जगह पर पुलिस से हिंसक झड़प हो रही है। पुलिस हिंसक भीड़ पर आंसू गैस छोड़ रही है। एक तरफ तो अमेरिका में लोगों को गुस्सा कम नही हो रहा है तो वहीं दूसरी तरफ कुछ लोगों इस प्रदर्शन को लेफ्ट बनाम राइट का राजनीतिक रंग दे रहे हैं जिससे स्थिति और बिगड़ती जा रही है।

वहीं राष्ट्रपति ट्रंप ने हिंसा में शामिल होने के आरोप में Antifa नाम के संगठन पर प्रतिबंध लगाने का ऐलान किया है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आरोप लगाया है कि George के लिए शुरू हुए आंदोलन को हाइजैक कर लिया गया है और अब उन्होंने ऐसे लोगों को आतंकवादी घोषित करने का फैसला किया है। ट्रंप ने ट्वीट करके कहा है कि अमेरिका Antifa को आतंकवादी संगठन करार देगा। ट्रंप ने हिंसा के पीछे वामपंथी संगठनों को जिम्मेदार ठहराया है जिन्हें आमतौर पर Antifa कहा जाता है।

पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा की पत्नी मिशेल ओबामा ने कहा कि वह जॉर्ज फ्लॉयड की हत्या से दुखी हैं और दर्द महसूस कर रही हैं। एक इंस्टाग्राम पोस्ट में मिशेल ने कहा कि नस्लवाद एक सचाई है। हममें से कई लोग इससे समझौता करना सीख जाते हैं। लेकिन अगर हम इसे सच में अतीत बनाना चाहते हैं तो यह केवल एक रंग के लोग नहीं कर सकते। यह हम सब पर है- गोरे, काले सभी पर। यह न्याय, करुणा और सहानुभूति के साथ खत्म होगा।

आपको बता दें कि इस वक्त जहां अमेरिका कोरोना की महामारी से जूझ रहा है, वहीं रंगभेद से उभरे आंदोलन ने हिंसक रूप ले लिया है। अमेरिका में हिंसक भीड़ कई जगह दुकानों में तोड़फोड़ करके वहां पर रखा सामान लूट रही है। कई शहरों में अफरा-तफरी का माहौल बन गया है। जिस अमेरिका में कोरोना एक लाख लोगों की जान ले चुका है, वहां ऐसी हिंसा का भड़क जाना अपने आप में गंभीर बात है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

आज फिर कोरना ने तोड़ा रिकॉर्ड, एक दिन में सबसे ज्यादा 24,879 नए केस हुए दर्ज, देखिए राज्यों का हाल

नई दिल्ली: कोरोना का कहर देश में लगातार जारी है। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या थमने का नाम नहीं ले रहा है। हर...

विकास दुबे गिरफ्तार, जांच में सही निकला CO देवेंद्र मिश्र का पत्र

नई दिल्‍ली: एक नाटकीय घटनाक्रम के बाद करीब 6 दिन के बाद 8 पुलिसकर्मियों की हत्‍या करने वाले विकास दुबे को उज्‍जैन के महाकाल...

Good News: मिल गया Corona का Killer, अब हवा में ही हो जाएगा कोरोना वायरस का खात्मा

नई दिल्ली। जैसे ही डब्लूएचओ ने इस बात को माना कि कुछ खास परिस्थितियों में कोरोना वायरस हवा के माध्यम से भी फैल सकता...

देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 7 लाख 67 हजार के पार, अबतक 21000 से ज्यादा लोगों की जा चुकी है जान

नई दिल्ली: चीनी वायरस कोरोना (Coronavirus) यानी कोविड 19 (Covid 19) के संक्रमण के चेन को तोड़ने के लिए देश में 24 मार्च से...