अनोखा घाट, यहां चिता की आग नहीं होती कभी शांत, रात भर नृत्य करती हैं नगर वधूएं

trending

देश की पवित्र नगरी काशी को हिंदू धर्म में बेहद ही महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है।

Image Credit : Google

यहां स्थित मणिकर्णिका घाट पूरे देशभर में प्रसिद्ध है।

Image Credit : Instagram

शास्त्रों के मुताबिक,यहां दाह संस्कार होने पर मनुष्य की आत्मा को मोक्ष की प्राप्ति होती है।

Image Credit : Google

इसी वजह से ज्यादातर लोग अपने अंतिम समय में इसी घाट पर आना पसंद करते हैं।

Image Credit : Google

मणिकर्णिका घाट, वाराणसी का एक ऐसा श्मशान घाट है जहां पर हर टाइम चिताएं जलती ही रहती हैं।

Image Credit : Instagram

हिंदी धर्म के लोग इस घाट को अंतिम संस्कार के लिए सबसे पवित्र मानते हैं।

Image Credit : Google

ऐसी मान्यता है कि मणिकर्णिका घाट को भगवान शिव ने अनंत शांति का वरदान दिया है।

Image Credit : Google

इस घाट की खासियत यह है कि यहां चिता की आग कभी शांत नहीं होती है, यानी हर समय किसी ना किसी का दाह - संस्कार होता रहता है।

Image Credit : Instagram

यहां हर दिन लगभग 200 से 300 शव का अंतिम संस्कार किया जाता है।

Image Credit : Instagram

आपको जानकारी हैरानी होगी कि यहां जलते मुर्दों के बीच साल में एक बार महोत्सव भी होता है।

Image Credit : Google

यह महोत्सव चैत्र नवरात्र की सप्तमी की रात में होता है।

Image Credit : Google

इस महोत्सव में पैरों में घुघंरू बांधी हुई नगर वधुओं हिस्सा लेती हैं।

Image Credit : Google