Thursday, July 2, 2020

पाकिस्‍तान में मची भुखमरी, खाना नहीं मिलने के कारण सड़क पर उतरे लाखों लोग

नई दिल्‍ली: दुनिया में कोरोना ने कहर मचाया हुआ है, लेकिन पाकिस्‍तान में जो हालात है उसे देखकर लग रहा है कि यह देश जल्‍द ही भुखमरी का शिकार होगा। पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इस बात को लेकर आशंका जाहिर की थी और वहां पर ऐसा होता दिख भी रहा है। पाकिस्‍तान में कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन में रोजाना कमाकर खाने वाली बड़ी आबादी के सामने भुखमरी का संकट आ खड़ा हुआ है।

गरीबों को यहां पर सरकार से कोई मदद भी नहीं मिल रही है, जिस वजह से गरीब अब देश में जगह-जगह सड़क पर उतर कर प्रदर्शन कर रहे हैं। प्रदर्शनों में एक साथ भारी भीड़ के पहुंचने से लॉकडाउन में लोगों के बीच संपर्क नहीं होने का उद्देश्य भी नाकाम हो रहा है। पंजाब की राजधानी लाहौर में बड़ी संख्या में लोग गर्वनर हाउस पर पहुंच गए। गरीब परिवारों से ताल्लुक रखने वाले इन प्रदर्शनकारियों में बड़ी संख्या में महिलाएं भी शामिल थीं जिनका कहना था कि अब उनके घरों में चूल्हा जलना मुश्किल हो गया है और भूखे रहने की नौबत आ गई है।

प्रदर्शनकारियों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाए और पंजाब के गवर्नर हाउस में घुसने की कोशिश की। इन लोगों का कहना था कि शहर में जगह-जगह वाहनों पर लगे लाउडस्पीकर से प्रचार किया गया कि गवर्नर हाउस की तरफ से गरीबों के बीच राशन बांटा जाएगा। इसकी शुरुआत सुबह आठ बजे होनी थी। वे लोग सुबह छह बजे से ही आकर लाइन में लग गए।

इन लोगों ने कहा कि लाइन में काफी देर तक लगे रहने के बाद उनसे यह कहा गया कि यहां से जाएं, राशन पुलिस स्टेशन के बाहर मिलेगा। खाली पेट दिन निकल गया और फिर बताया गया कि राशन यहां नहीं मिलेगा। इस पर नाराज लोगों ने गवर्नर हाउस के सामने नारेबाजी शुरू कर दी। बाद में पुलिस ने उन्हें वहां से हटाया।

राशन न मिलने की शिकायत के साथ ऐसे ही प्रदर्शन पाकिस्तान में अन्य जगहों पर भी हुए हैं। देश के सबसे बड़े शहर कराची में ऐसे कई प्रदर्शनों की खबर मिली है। सिध में भी लॉकडाउन के कारण रोज कमाकर खाने वाले मजदूर वर्ग के सामने भुखमरी का संकट पैदा हो गया है। सिध की सरकार अभी तक यह कार्ययोजना ही नहीं बना सकी है कि गरीबों तक राशन कैसे पहुंचाया जाए। लोगों ने अब उपायुक्तों के दफ्तरों का घेराव शुरू कर दिया है। अगर जल्द ही इन लोगों तक खाने-पीने का सामान नहीं पहुंचा तो स्थिति विस्फोटक हो सकती है।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री इमरान खान इस बात का अंदेशा जताते रहे हैं कि लॉकडाउन के कारण देश में विशेष रूप से गरीब तबकों में भुखमरी का संकट पैदा हो सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

चीन का तियां-पांचा तय, गलवान निपटा नहीं, रूस के इस शहर पर ठोंका दावा, देखें क्या बोले पुतिन!

नई दिल्ली। दुनिया की तमाम बड़ी तकतों के साथ ही जब रूस ने भी चीन से गलवान पर गंदी नजर न डालने को कहा...

Recipe: गर्मी और कोरोना दोनों से बचाएगी ये स्पेशल ड्रींक, जानिए इसकी क्विक रेसिपी

नई दिल्ली। इस समय न सिर्फ गर्मी बल्कि कोरोना वायरस से सुरक्षित रहने के लिए ऐसी चीजों का इस्तेमाल या सेवन करना बेहद जरूरी...

नेपाल में सियासी हलचल तेजः राष्ट्रपति मिले प्रचण्ड और ओली, देश के नाम संबोधन में पीएम के इस्तीफे की अटकलें!

नई दिल्ली। नेपाल की राजधानी काठमाण्डु में सियासी गतिविधियां बहुत तेजी से बदल रही हैं। गुरुवार की सुबह से बैठकों का दौर-दौरा जारी रहा।...

आपके मोबाइल फोन तक कैसे पहुंचता है? इंटरनेट क्या आपने कभी सोचा है?

नई दिल्ली। इंटरनेट का हमारे मोबाइल तक पहुंचने में काफी लम्बा प्रोसेस है लेकिन फिर भी हमारी जानकारी नैनो सेकेंड्स में एक जगह से...