Jhansi: नदी में अचानक पानी आने से टापू पर फंसे किसान, चार दिन बाद सेना ने किया ‘एयरलिफ्ट’, देखें Video

सेना ने गुरुवार दोपहर हेलिकॉप्टर की मदद से बेतवा नदी के बीच टापू पर फंसे चार किसानों को एयरलिफ्ट किया गया है। सुरक्षित स्थान पर ले जाने के बाद सभी को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां डॉक्टरों ने स्वस्थ्य पाया।

Jhansi: उत्तर प्रदेश के झांसी जिले में प्रशासन ने कई दिनों से नदी के टापू पर फंसे चार किसानों को एयरलिफ्ट किया है। आपको बता दें कि झांसी की बेतवा नदीं में अचानक पानी आ जाने से चार किसान नदी के टापू पर फंस गए थे। जब प्रशासन को इसकी जानकारी हुई तो रेस्क्यू किया गया है। वहीं हेलिकॉप्टर से रेस्क्यू का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है।

आज दोपहर में सेना के हेलिकॉप्टर ने किया रेस्क्यू

सेना ने गुरुवार दोपहर हेलिकॉप्टर की मदद से बेतवा नदी के बीच टापू पर फंसे चार किसानों को एयरलिफ्ट किया गया है। सुरक्षित स्थान पर ले जाने के बाद सभी को अस्पताल में भर्ती कराया है, जहां डॉक्टरों ने स्वस्थ्य पाया। इसके बाद सभी को उनके घरों के लिए भेजा है। सेना का यह रेस्क्यू ऑपरेशन करीब एक घंटे तक चला। जानकारी के मुताबिक खड़ेसर गांव के रहने वाले फूल सिंह, असोर, मनीराम और हरि नदीं के किनारे अपने खेतों पर गए थे। तभी बेतवा नदी में अचानक पानी आ गया।

अभी पढ़ें हिमाचल प्रदेश के सेब उत्पादकों ने की 7500 टन सेब की आपूर्ति 

अभी पढ़ें – दिल्ली और पंजाब के बाद अब हिमाचल को मिलेंगी मानक स्वास्थ्य सुरक्षा सेवाएं: भगवंत मान

नदी में आचानक आया पानी तो निकल नहीं पाए

अचानक नदी में पानी आने के कारण सभी लोग बीच टापू पर फंस गए। सूत्रों के मुताबिक किसान करीब चार दिनों से टापू पर फंसे हुए थे। किसी तरह से पीड़ितों के परिवार वालों ने इसकी प्रशासन को जानकारी दी। प्रशासन ने सेना की मदद से सभी किसानों को बाहर निकाला। प्रशासनिक अधिकारियों ने बताया कि पहले एनडीआरएफ ने उन्हें निकालने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली। इसके बाद ग्वालियर से सेना की मदद ली गई। सेना ने हेलिकॉप्टर की मदद से चारों किसानों को टापू से बाहर निकाला। जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने बताया कि सभी चारों किसान सुरक्षित है।

उफान पर चंबल नदी, खतरे का निशान पार किया

वहीं आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के आगरा के पिनाहट क्षेत्र में भी चंबल नदी में बाढ़ आ चुकी है। स्थानीय प्रशासन के मुताबिक चंबल नदी में पानी खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। गुरुवार को प्रशासन के अधिकारियों और कर्मचारियों ने चंबल नदी की हद में आने वाले करीब 10 गांवों के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। वहीं कई गांव वाले अपने पशुओं और जरूरी सामानों को लेकर पहले ही सुरक्षित स्थानों पर आ चुके हैं। स्थानीय लोगों की मांनें तो उन्हें खुले में रात बितानी पड़ रही हैं। वहीं गांवों का भी अपस में संपर्क टूट चुका है। प्रशासन की ओर से राहत एवं बचाब कार्य चल रहा है।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version