Viral Video: बिजली कटी तो टॉर्च की रोशनी में डॉक्टरों ने किया महिला का इलाज, सुपरिटेंडेंट ने बताई ये बड़ी समस्या

यूपी के बलिया में जिला अस्पताल के डॉक्टरों ने शनिवार को बिजली गुल होने के बाद मोबाइल की टॉर्च से मरीजों का इलाज किया।

Ballia: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के बलिया (Ballia) जिले में बिजली कटौती के चलते अस्पताल (Hospital) के डॉक्टरों को मोबाइल टॉर्च (Mobile Torch) की रोशनी में मरीजों का इलाज करना पड़ा। अब घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है।

बारिश के कारण अस्पताल में नहीं है बिजली

रिपोर्ट के मुताबिक, बलिया जिले में भारी बारिश के कारण अस्पताल को बिजली कटौती का सामना करना पड़ रहा है। इमरजेंसी लाइट भी न होने के कारण डॉक्टरों ने टॉर्च की रोशनी में मरीजों का इलाज किया। हालांकि बलिया जिला अस्पताल के प्रभारी प्रमुख डॉ. आरडी राम ने बताया कि डॉक्टरों को केवल 15-20 मिनट के लिए बिजली कटौती का सामना करना पड़ा था। उन्होंने दावा किया कि स्टाफ को जनरेटर चालू करने में कुछ समय लग गया था, क्योंकि बैटरी अलग रखी हुई थी।

बैटरियां चोरी हो जाती हैं, इसलिए निकाल दी थीं

ऐसा इसलिए किया गया था क्योंकि पूर्व में कई बैटरियां चोरी हो चुकी थीं। इस घटना ने जिला अस्पताल की व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। राज्य सरकार ने अभी इस घटना पर कोई टिप्पणी नहीं की है। अब इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि अस्पताल में डॉक्टर मोबाइल फोन की टॉर्च की रोशनी में एक महिला मरीज का इलाज कर रहे हैं। महिला दर्द के मारे चीख रही है।

पहले भी आए हैं ऐसे कई मामले

बता दें कि इससे पहले बलिया के जिला अस्पताल से मोबाइल और टॉर्च की रोशनी में इलाज करते हुए डॉक्टरों का वीडियो वायरल हुआ था। हालांकि अस्पताल अधीक्षक का बयान बचाव वाला है आता है। इससे पहले भी उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बिजली समस्या की खबरें सामने आती रही हैं। जबकि प्रदेश सरकार की ओर से बिजली सुधार के लिए कई बार आदेश भी जारी हो चुके हैं। आपको बता दें कि बिजली की समस्या से प्रदेश के किसान भी परेशान रहते हैं।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version