Uttar Pradesh: विधानसभा और विधान परिषद की महिला सदस्यों को समर्पित होगा 22 सितंबर का सत्र, सीएम योगी ने की घोषणा

Uttar Pradesh के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 22 सितंबर को विधानसभा और विधान परिषद दोनों की महिला सदस्यों को समर्पित करने की घोषणा की।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) विधानसभा का मानसून सत्र शुरू होने के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 22 सितंबर को विधानसभा और विधान परिषद दोनों की महिला सदस्यों को समर्पित करने की घोषणा की। सीएम योगी ने रविवार को मानसून सत्र की पूर्व संध्या पर भाजपा और सहयोगी दलों के सदस्यों को संबोधित करते हुए अपने ऐतिहासिक फैसले की घोषणा की।

22 सितंबर को होने वाले सत्र में विधान सभा की 47 महिला सदस्य और विधान परिषद की छह सदस्य उपस्थित होंगी।
मुख्यमंत्री ने विशेष सत्र के दौरान महिला सदस्यों से राज्य की महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और आत्मनिर्भरता के लिए राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे ‘मिशन शक्ति’ और अन्य कार्यक्रमों पर बोलने का आग्रह किया है।

मुख्यमंत्री आदित्यनाथ ने संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना से भी इस दिन को खास बनाने के लिए दोनों सदनों में एक महिला सदस्य को पीठासीन अधिकारी बनाने का अनुरोध किया है। इसके अलावा, मुख्यमंत्री ने सदस्यों से सदन की कार्यवाही में पूरी निष्ठा के साथ भाग लेने, अधिकतम समय देने और आदर्श आचरण का प्रदर्शन करने का आग्रह किया, और कहा कि जो लोग किसी कारण से सदन की कार्यवाही में शामिल नहीं हो पा रहे हैं, वे अपने व्हिप को सूचित करें ताकि कार्यवाही समय पर शुरू हो सके।

सत्ताधारी दल के सदस्यों को अनुशासन बनाए रखने की बात कहते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी सदस्यों को अपने विचार प्रस्तुत करने चाहिए और जन जागरूकता पैदा करने के लिए तथ्यों के साथ अपने बयानों का समर्थन करना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश द्वारा लंपी वायरस के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए किए गए कार्यों को दोनों सदनों में उजागर किया जाना चाहिए।

उन्होंने कहा, “विपक्ष के पास मुद्दे नहीं हैं, इसलिए वह सदन की कार्यवाही को बाधित करने की कोशिश करेगा। हमें ‘बेरोजगार’ विपक्ष को कोई मुद्दा नहीं देना चाहिए और हमें बोलते समय सावधानी बरतनी चाहिए।”

वोकल फॉर लोकल की भावना से जुड़ने की बात करते हुए उन्होंने कहा कि आत्मनिर्भर भारत के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अभियान को जमीनी स्तर पर ले जाना चाहिए। सीएम योगी ने कहा कि सत्र के पहले दिन स्वास्थ्य विभाग द्वारा लगाए गए कैंप में सभी सदस्य अपना मेडिकल चेकअप कराएं।

उन्होंने कहा कि 25 सितंबर को पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती मनाने के लिए बूथ स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएं और दीनदयाल जी की विचारधारा और कार्यों से लोगों को अवगत कराया जाए।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version