News24 Hindi

Social Media: उत्तरकाशी टनल रेस्क्यू की कामयाबी पर फिल्म बनी ताे यह दिग्गज अभिनेता निभा सकते हैं टनल एक्सपर्ट का रोल?

Uttarkashi Tunnel Collapse उत्तरकाशी : उत्तरकाशी की सिल्क्यारा-डंडालगांव टनल में चले रेस्क्यू की कामयाबी के बाद फिल्म जगत की तरफ से भी अटकलों का दौर शुरू हो गया है। सोशल मीडिया पोस्ट के मुताबिक जल्द ही इस रेस्क्यू ऑपरेशन पर फिल्म बनाई जा सकती है। अंदाजा लगाया जा रहा है कि इस रेस्क्यू में अहम भूमिका निभाने वाले टनल एक्सपर्ट अनोल्ड डिक्स के रोल में अक्षय कुमार नजर आ सकते हैं। ऐसा हमारा नहीं, सोशल मीडिया पर वायरल हो रही पोस्ट में दावा किया जा रहा है। हालांकि न तो अभिनेता की तरफ से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया है और न ही न्यूज 24 इसकी पुष्टि करता है। दूसरी ओर सोशल मीडिया पर तो यहां तक भी दावा किया जा रहा है कि फिल्म का नाम ही नहीं, बल्कि इसकी शूटिंग के लिए लोकेशन भी फाइनल कर ली गई है। यह पोस्ट सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘X’ पर चल रही तरह-तरह की पोस्ट्स में से एक aaplach_yogesh की तरफ से शेयर की गई है।

दिवाली की सुबह आंशिक रूप से धंसी सुरंग में फंसे थे 41 मजदूर

गौरतलब है कि देवभूमि उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले में चार धाम प्रोजेक्ट के तहत ब्रह्माखाल-यमुनोत्री नेशनल हाईवे पर बनाई जा रही 4.5 किलोमीटर लंबी सिल्क्यारा-डंडालगांव टनल 12 नवंबर 2023 दिवाली वाले दिन की सुबह करीब साढ़े 5 बजे आंशिक रूप से धंस गई। मलबा गिरने के बाद यहां काम कर रहे 41 मजदूर अंदर ही फंस गए। इन्हें बचाने के लिए ऑपरेशन शुरू किया गया, लेकिन 17 नवंबर को चट्टान आने के बाद ड्रिलिंग रोकनी पड़ी थी। इसके बाद टनल के प्रवेश द्वार से एक बार फिर अमेरिका से लाई गई ऑगर मशीन से ड्रिलिंग शुरू हुई। यह भी फेल हो गई तो इसके बाद टनल के अंदर रैट होल माइनिंग की गई। इसी के साथ रैट होल माइनिंग के एक्सपर्टों ने हाथों के औजारों से मलबे को हटाया और पाइपलाइन को अंदर डाला। इसी पाइपलाइन के जरिए मजदूरों को टनल से बाहर लाया गया।

ऑस्ट्रेलिया के टनल एक्सपर्ट अर्नोल्ड डिक्स ने निभाई रेस्क्यू में अहम भूमिका

खास बात यह है कि इस ऑपरेशन को कामयाबी ऐसे ही हासिल नहीं हुई है। ओएनजीसी, एसजेवीएनएल, आरवीएनएल, एनएचआईडीसीएल और टीएचडीसीएल के एक्सपर्ट्स ने इसमें बड़ी अहम भूमिका निभाई है। इस रेस्क्यू के दौरान अर्नोल्ड डिक्स को भी बुलाया गया। यह शख्स कोई और नहीं, ऑस्ट्रेलिया में चल रही इंटरनेशनल टनलिंग एंड अंडरग्राउंड स्पेस एसोसिएशन के प्रेजिडेंट हैं। वह ब्रिटिश इंस्टीट्यूट ऑफ इन्वेस्टिगेटर्स में बैरिस्टर की भी भूमिका निभा रहे डिक्स के पास इंजीनियरिंग, भूविज्ञान, कानून और जोखिम प्रबंधन मामलों में लगभग 30 साल से ज्यादा का एक्सपीरियंस है।

Uttarkashi Tunnel Rescue : उत्तरकाशी में चट्टानों का गुरूर हुआ चूर-चूर; जीत गई 41 जिंदगियां, बचाए गए सभी मजदूर फिलहाल अस्पताल में भर्ती

अर्नोल्ड डिक्स की वेबसाइट के अनुसार सुरंग बनाने के लिए अर्नोल्ड डिक्स के पास मोनाश विश्वविद्यालय, मेलबर्न से विज्ञान और कानून की डिग्री है। वह 2020 में अंडरग्राउंड वर्क्स चैंबर्स बनाने के लिए लॉर्ड रॉबर्ट मेयर पीटर विकरी क्यूसी में शामिल हो गए। 2022 में वह अमेरिका के नेशनल फायर प्रोटेक्शन एसोसिएशन से समिति सेवा पुरस्कार भी हासिल कर चुके हैं। 20 नवंबर को सिल्क्यारा टनल पहुंचे अर्नोल्ड डिक्स दिन-रात मजदूरों के संपर्क में रहे, वहीं उन्होंने हर किसी को पॉजीटिव रहने के लिए कहा। उल्लेखनीय पहलू है कि वह एक ईसाई होते हुए किसी भी धर्म की आस्था का पूरा सम्मान करते हैं। मंगलवार को रेस्क्यू ऑपरेशन के आखिरी दिन वह  सुरंग के नजदीक मौजूद भगवान बौख नाग देवता की पूजा में भी शामिल हुए। आखिर उनके और उनके सहयोगियों के अथक प्रयासों के परिणामस्वरूप 60 मीटर के मलबे को हटाते हुए सभी 41 जिंदगियों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया गया।

यह भी पढ़ें: उत्तरकाशी रेस्क्यू की सफलता को पीएम मोदी ने बताया भावुक कर देने वाला पल, नितिन गडकरी ने भी जाहिर की खुशी

Exit mobile version