तिहाड़ जेल में ‘मसाज कांड’ के बाद UP की जेलों के लिए आया बड़ा निर्देश, जानें क्या है ‘नो स्पेशल सर्विस’

UP News: राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक प्रदेश की सभी 72 जेलों और उप-जेलों में 24 घंटे वीडियो निगरानी की जा रही है।

UP News: दिल्ली की तिहाड़ जेल में आम आदमी पार्टी के नेता और दिल्ली के मंत्री सत्येंद्र जैन का तिहाड़ से एक वीडियो वायरल हुआ था। वीडियो में कथित तौर पर दुष्कर्म का एक आरोपी उनकी मसाज करते हुए सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ था। इस घटना के बाद अब उत्तर प्रदेश की सभी जेलों में बंद वीवीआईपी समेत पूर्व विधायकों और कुख्यात अपराधियों की निगरानी बढ़ाने के निर्देश जारी किए गए हैं।

UP की 72 जेलों के लिए जारी हुए निर्देश

राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों के मुताबिक प्रदेश की सभी 72 जेलों और उप-जेलों में 24 घंटे वीडियो निगरानी की जा रही है। इनमें प्रयागराज की नैनी सेंट्रल जेल, लखनऊ जेल, गौतम बौद्ध नगर की डासना जेल समेत सभी प्रमुख जेलें शामिल हैं। जानकारी के मुताबिक इन जेलों में कुख्यात अपराधी और संदिग्ध आतंकवादी, पूर्व मंत्री और कई वीवीआईपी बंद हैं। शासन स्तर से जेल अधिकारियों का कहा गया है कि जेल मैनुअल में निर्धारित नियमों के अलावा जेल में कुछ भी करने की अनुमति न दी जाए।

जेल में स्पेशल सर्विस की अनुमति नहीं

शासन की ओर से जेल अधिकारियों को जेलों में बंद नेताओं, नौकरशाहों, माफिया, खूंखार गैंगस्टरों और संदिग्धों आतंकवादी की एक सूची बनाने के लिए कहा गया है। साथ ही उनकी गतिविधियों पर निगरानी रखने के भी निर्देश दिए गए हैं। ताकि सुनिश्चित किया जा सके कि उन्हें कोई विशेष सुविधा प्रदान नहीं हो रही है। अधिकारियों ने बताया कि कोर्ट के आदेश के मुताबिक भी जेलों में किसी को भी मसाज या कोई अन्य स्पेशल सर्विस की इजाजत नहीं है।

ये लोग बंद हैं यूपी की जेलों में

बता दें कि वर्तमान में पूर्व कैबिनेट मंत्री गायत्री प्रजापति, गैंगस्टर से नेता बने अतीक अहमद के बेटे उमर, गैंगस्टर संजीव माहेश्वरी समेत कई वीवीआईपी, आरोपी पुलिसकर्मी, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के 24 से ज्यादा कार्यकर्ता और पांच पाकिस्तानी आतंकी लखनऊ जिला जेल में बंद हैं।

यहां के जेलर राजेंद्र सिंह ने बताया कि यहां करीब 3,500 कैदी बंद हैं। इसी तरह से नैनी सेंट्रल जेल में लगभग 4,300 कैदी हैं। इनमें जम्मू-कश्मीर और देश के अन्य हिस्सों से लाए गए आतंकवादी, नक्सली, माफिया, गैंगस्टर, साइको सीरियल किलर शामिल हैं।

- विज्ञापन -

इन जिलों में 24 घंटे हो रही है निगरानी

सूची में फूलपुर के पूर्व सांसद कपिलमुनि करवरिया और उनके छोटे भाई (पूर्व एमएलसी) सूरजभान करवरिया भी बंद हैं। मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी (विधायक) सुरक्षा कारणों से चित्रकूट जेल में बंद हैं। इससे पहले लखनऊ, गौतमबुद्ध नगर, आजमगढ़, चित्रकूट और बरेली समेत पांच जिला जेलों में पहले से ही 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। इन जेलों में ड्रोन कैमरे से लेकर डीप सर्च मेटल डिटेक्टर तक के इंतजाम किए गए हैं।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version