ED की अमेठी में बड़ी कार्रवाई, पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के परिवार की ₹5 करोड़ की संपत्ति कुर्क, जांच अभी जारी

UP News: ईडी ने 15 जनवरी 2021 को पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया था।

UP News: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में अमेठी (Amethi) जिले में ईडी (ED) ने पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति (Former Minister Gayatri Prajapati) के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। आय से अधिक संपत्ति मामले में जेल में बंद गायत्री प्रजापति के परिवार के सदस्यों की 5 करोड़ रुपये की संपत्ति प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने जब्त कर ली है। ईडी के अधिकारियों ने यह जानकारी दी।

पांच संपत्तियों पर की कार्रवाई

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि ईडी ने अपने दो दिवसीय प्रवास के दौरान अमेठी के विभिन्न हिस्सों में एक वाणिज्यिक परिसर समेत पांच संपत्तियां जब्त की हैं। उन्होंने कहा कि 2.5 करोड़ रुपये का वाणिज्यिक परिसर जबकि 1 करोड़ रुपये कीमत की एक अन्य जमीन है। मंत्री के बेटे और दो बेटियों के नाम पर तीन जमीनें भी बुधवार को कुर्क की गई थीं।

पहले 60 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क हुई

अधिकारी ने बताया कि सुल्तानपुर जिले में पूर्व मंत्री की कुछ और संपत्तियां भी जांच के दायरे में हैं। उनपर भी जांच  के बाद कार्रवाई की संभावना है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इससे पहले गायत्री प्रजापति और उनके परिवार के सदस्यों की 60 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की गई थी।

जनवरी 2021 में दर्ज हुआ था मामला

जानकारी के मुताबिक ईडी ने 15 जनवरी 2021 को पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति का मामला दर्ज किया था। ईडी ने लखनऊ, कानपुर में उनके और परिवार के सदस्यों व सहयोगियों के 7 स्थानों पर तलाशी के दौरान सामने आए तथ्यों के आधार पर मामला दर्ज किया गया था।

2017 से जेल में बंद हैं प्रजापति

बता दें कि गायत्री प्रजापति वर्ष 2012-2017 से समाजवादी पार्टी की सरकार के दौरान खनन मंत्री थे। मार्च 2017 से जेल में हैं। वर्ष 2016 में एक महिला ने उनके और उनके सहयोगियों के खिलाफ लखनऊ के गौतमपल्ली पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज कराया था।

- विज्ञापन -

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version