TrendingUnion Budget 2024ind vs zimSuccess StoryAaj Ka RashifalAaj Ka MausamBigg Boss OTT 3

---विज्ञापन---

जिंदा जलकर मर गए, पर निकल क्यों नहीं पाए? बच सकती थीं 5 जानें अगर…गाजियाबाद अग्निकांड की 2 वजहें

Ghaziabad Fire Tragedy: गाजियाबाद में लोनी बॉर्डर पर बने गांव में हुए भीषण अग्निकांड की जांच में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। पुलिस के अनुसार पांचों लोगों की जान बच सकती थी, अगर वे समय रहते बाहर निकल पाते, लेकिन वे निकल नहीं पाए, क्योंकि...

Edited By : Khushbu Goyal | Updated: Jun 13, 2024 10:09
Share :
गाजियाबाद में घर में हुए भीषण अग्निकांड की जांच में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं।

रोहित सिंह राजावत, गाजियाबाद

Ghaziabad Fire Tragedy Inside Story: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में लोनी बॉर्डर पर बसे बेहटा हाजीपुर गांव में बीती रात भीषण अग्निकांड हुआ। 3 मंजिला मकान में भीषण आग लग गई, जिसमें परिवार के 5 लोग जिंदा जलकर मर गए। मरने वालों में 2 महिलाएं और 2 बच्चे शामिल हैं। पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। वहीं पुलिस जांच में आग लगने की वजह सामने आई।

पुलिस के अनुसार, आग शॉर्ट सर्किट होने से भड़की, लेकिन पांचों लोग आग की लपटों से घिरे घर से निकल सकते थे। अपनी जान बचा सकते थे, लेकिन जिंदा जलकर खाक हो गए, क्योंकि वे घर से निकल ही नहीं पाए। उन्होंने निकलने का रास्ता ही नहीं मिला। पांचों लोग चीखते-चिल्लाते रहे, लेकिन आग की लपटों को देख कोई उन्हें बचाने की हिम्मत नहीं कर पाया।

 

यह भी पढ़ें:घोर पाप! हाईकोर्ट के आदेश का उल्लंघन; लाइसेंस रद्द होने के बावजूद मां का दूध बेच रही बेंगुलरु की कंपनी

क्यों घर से निकल नहीं पाए पांचों लोग?

पुलिस सूत्रों के मुताबिक, लाशें घर के कमरों में, सीढ़ियों पर और मेन गेट पर मिलीं। जांच में पता चला कि पांचों मृतक जान बचाने के लिए छत की तरफ दौड़े, लेकिन छत के दरवाजे पर ताला लगा था। मेन गेट पर भी बाहर से ताला लगा हुआ था। चाबी भी ग्राउंड फ्लोर पर रखी थी, क्योंकि घर का मुशिया इश्तियाक नमाज अदा करने मस्जिद गया था। दोनों बेटे शाकिब और सारिक किसी काम से बाहर गए हुए थे।

घर में इश्तियाक की पत्नी, बेटे की पत्नी, बेटी-दामाद और पोते थे। ग्राउंड फ्लोर पर फोम का काम चल रहा था, जिसकी वजह से आग भड़कती चली गई। पूरे घर में फोम में आग लगने से बनने वाला जहरीला धुंआ भर गया। धुएं से पांचों का दम घुट गया, वे आग में झुलसकर मर गए। ताला लगा होने के कारण न कोई बाहर आ पाया और न कोई अंदर जा पाया।

यह भी पढ़ें:Kuwait Fire: 40 भारतीय जिंदा जले, जानें कैसे भड़की थी आग; बिल्डिंग के मालिक का भारत से खास कनेक्शन

घर में फोम का काम करता था साजिद

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, मृतकों की शिनाखत 28 वर्षीय फेहरीन पत्नी सारिक, सारिक की 30 वर्षीय बहन नाजरा, सारिक का 7 साल का बेटा शीश, नाजरा की 8 साल की बेटी इफरा, नजारा के पति 35 वर्षीय सैफुल रहमान के रूप में हुई। सारिक की 22 वर्षीय बहन उजमा को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पड़ोसियों ने आग लगने की सूचना फायर विभाग को दी।

दमकल की गाड़ियों ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। इश्तियाक का बेटा साजिद घर में ही फोम का काम करता था, लेकिन शॉर्ट सर्किट से आग फोम में लग गई और भीषण अग्निकांड हुआ। इसी फोन और आग ने 5 लोगों की जान ले ली। मौके पर एडिशनल कमिश्नर दिनेश कुमार पहुंचे और हालातों का जायजा लिया।

यह भी पढ़ें:PM मोदी के आक्रामक तेवर, चीन को मुंह तोड़ जवाब दिया; मामले का तिब्बत से कनेक्शन

First published on: Jun 13, 2024 09:57 AM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें
Exit mobile version