News24 Hindi

Dinner Politics: वसुंधरा राजे के सामने फंस रहा पेंच, मुलाकात के बाद क्या बोले विधायक?

Vasundhara Raje

Vasundhara Raje CM Face: राजस्थान में बीजेपी की प्रचंड जीत के बाद मुख्यमंत्री कौन होगा, इसे लेकर कई सवाल खड़े हो गए हैं। चुनाव से पहले ही कहा जा रहा था कि पार्टी आलाकमान सीएम बदलना चाहता है। हालांकि टिकट वितरण में वसुंधरा राजे की भी चली, लेकिन 7 सांसदों को मैदान में उतारने के बाद सीएम पद के नए दावेदार भी खड़े हो गए। हालांकि राजे पीछे हटने के मूड में दिखाई नहीं दे रही हैं। सोमवार को उनके आवास पर हलचल तेज हो गई है। चुनाव जीतते ही राजे ने ‘डिनर पॉलिटिक्स’ की शुरुआत कर दी है।

डिनर पर पहुंचे बीजेपी विधायक

जानकारी के अनुसार, वसुंधरा राजे ने कई नव-निर्वाचित विधायकों को आज शाम डिनर पर बुलाया। ऐसे में इस डिनर पॉलिटिक्स को शक्ति प्रदर्शन से भी जोड़कर देखा जा रहा है। पिंडवाड़ा से बीजेपी विधायक समाराम गरासिया ने कहा- वसुंधरा राजे ने उन्हें डिनर पर बुलाया है। इसलिए वे जयपुर आए हैं। हालांकि शाम को विधायक कालीचरण सराफ जब उनके आवास से बाहर निकले तो मीडिया से बातचीत में उन्होंने कहा कि पार्टी का शीर्ष नेतृत्व ये तय करेगा कि मुख्यमंत्री कौन होगा। वसुंधरा जी हमारी सर्वमान्य नेता हैं, लेकिन पार्टी तय करेगी कि सीएम कौन होगा।

कालीचरण की पसंद कौन हैं? इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा- पार्टी में व्यक्तिगत पसंद नहीं होती। विधायक दल की बैठक के बाद पार्टी नेतृत्व सीएम के नाम पर मुहर लगाएगा। जानकरों के अनुसार, कालीचरण सराफ के बयान से स्पष्ट है कि फिलहाल सीएम पद को लेकर वसुंधरा राजे और उनके समर्थन में खड़े विधायक आश्वस्त नहीं हैं।

दिन में सीएम पद के दावेदार बालकनाथ को दिल्ली बुलाया गया था। इस तरह सीएम पद को लेकर संशय गहरा गया है। कहा जा रहा है कि करीब 30 विधायक वसुंधरा राजे को सीएम बनाने का समर्थन कर रहे हैं।

कई विधायक और कार्यकर्ता वसुंधरा राजे से मिलने उनके आवास 13 सिविल लाइंस पहुंचे। इनमें विधायक कालीचरण सराफ, बाबू सिंह राठौड़, प्रेमचंद बैरवा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी, सांगानेर विधायक भजनलाल शर्मा, शाहपुरा विधायक लालाराम बैरवा, नसीराबाद विधायक रामस्वरूप लांबा, मनोहरपुर थाना विधायक गोविन्द रानीपुरीया, ललित मीणा, कंवरलाल मीणा, राधेश्याम बैरवा और कालूलाल मीणा शामिल रहे। साथ ही गुढ़ा मलानी विधायक के के विश्नोई, पुष्कर विधायक सुरेश रावत, बांदीकुई विधायक भागचंद टाकड़ा भी पूर्व सीएम के आवास पर नजर आए।

वसुंधरा राजे को सीएम बनाने की मांग

इस तरह चुनाव परिणाम के एक दिन बाद ही वसुंधरा राजे के आवास पर गहमागहमी तेज हो गई। विधायक प्रताप सिंह सिंघवी और गोपीचंद मीणा भी पूर्व सीएम से मिलने पहुंचे। विधायक गोपीचंद मीणा ने वसुंधरा राजे को मुख्यमंत्री बनाने के सवाल पर कहा- हमारी और जनता की यही भावना है कि वसुंधरा राजे का नेतृत्व मिले। उनके नेतृत्व में मेवाड़ में अपार जनसमर्थन मिला है।

 ‘राजस्‍थान: किस सीट से कौन जीता, यहां देखें’ 

वहीं वैर से विधायक बहादुर सिंह कोली ने राजे को सीएम बनाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि राजस्थान की जनता की मांग है कि वसुंधरा राजे सीएम बनें। हम उनको मजबूत करने के लिए आए हैं। विधायक दल की बैठक में भी हम अपनी बात रखेंगे। दूसरी ओर, जहाजपुर से भाजपा के विधायक गोपीचंद मीणा ने कहा- हम मुख्यमंत्री के रूप में वसुंधरा राजे को देखते हैं, सभी यहां शिष्टाचार भेंट करने आए हैं।

ये भी पढ़ें: चुनाव हारते ही उठे बगावत के सुर, सीएम के ओएसडी लोकेश शर्मा बोले- कांग्रेस को गहलोत ने हराया

इनपुट के जे श्रीवत्सन, जयपुर

Exit mobile version