Rajasthan: अलवर में नाबालिग से आठ युवकों ने किया गैंगरेप, ब्लैकमेल कर ऐंठे 50 हजार रूपये, मामला दर्ज

अलवर: राजस्थान के अलवर से मानवता को शर्मसार करने वाली खबर सामने आ रही है। जिले के किसनगढ़ बास थाना इलाकें में एक नाबालिग के साथ कथित तौर पर आठ लोगों ने सामूहिक बलात्कार किया और उसे ब्लैकमेल कर 50 हजार रुपये की उगाही की। आरोपी भी प्रथमदृष्ट्या 20 साल की उम्र के बताएं जा रहे हैं।

किसनगढ़ बास थाना पुलिस के अनुसार आरोपियों ने जिले के किशनगढ़ बास थाना क्षेत्र की रहने वाली 16 वर्षीय लड़की की निजी तस्वीरें धोखे से क्लिक की और उसे यह कहकर ब्लैकमेल किया कि अगर उसने 50,000 रुपये का भुगतान नहीं किया तो तस्वीरें सार्वजनिक कर दी जाएंगी। बाद में मामले के मुख्य आरोपी समेत आठ लोगों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया।

अभी पढ़ें  Viral Video: पूर्व सांसद के बेटे ने एक सेकेंड में दागीं 5 गोलियां, अब पुलिस के गले नहीं उतर रही वजह, देखें

जानकारी के मुताबिक आरोपी 8 युवकों ने उसकी अश्लील फोटो होने का झांसा देकर बुलाया और फिर जबरन कपड़े उतरवा वीडियो बना लिया। इसके वायरल करने की धमकी दे गैंगरेप किया और फिर उससे रुपए ऐंठने लगे। पीड़िता से आरोपियों द्वारा करीब 50 हजार रुपए ऐंठने का आरोप है। जिसके बाद पीड़िता और रुपयों का इंतजाम नहीं कर पाई तो ये वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया, जो उसके घरवालों तक पहुंच गया। घटना के बाद बुधवार को नाबालिग लड़की के भाई ने मामला दर्ज कराया है।

मामले का खुलासा होने पर पीड़िता के भाई ने 8 युवकों के दुष्कर्म पॉक्सो और आईटी एक्ट में मामला दर्ज कराया है। आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है। थाना पुलिस के अनुसार करीब 16 वर्षीय पीड़िता के भाई ने रिपोर्ट में बताया कि उसकी बहन के पास 31 दिसंबर 2021 को साहिल पुत्र रफीक ने फोन कर गोठड़ा के पास बुलाया और कहा कि कि हमारे पास तेरी फोटो है, नहीं आई तो तेरा फोटो वायरल कर देंगे। पीड़िता वहां पहुंची तो वहां मौजूद 8 लड़कों ने उसके जबरन कपड़े उतार वीडियो बना ली। इसे सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी देकर इन सभी ने उसके साथ गैंगरेप किया।

अभी पढ़ें  Ankita Murder Case: अंकिता के माता-पिता से मिले CM धामी, कहा- राज्य और राज्य सरकार आपके साथ है

इस मामले में 8 आरोपी हैं। इनके खिलाफ नामजद रिपोर्ट लिखाई गई है। किशनगढ़ बास सर्कल पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) अतुल आगरा ने कहा, “भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 डी और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (पोक्सो) अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है। प्रथम दृष्टया आरोप सही प्रतीत होते हैं।”

उन्होंने बताया कि फरार आरोपितों को पकड़ने के लिए टीमें गठित कर दी गई हैं। उन्होंने कहा कि आरोपियों के पकड़े जाने के बाद और खुलासा किया जाएगा। आगे की जांच की जा रही है।

अभी पढ़ें – प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें  

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version