Rajasthan: अजमेर में एक बच्चे को बचाने के प्रयास में 4 युवकों की मौत, विवाद गहराने के बाद ग्रामीणों ने की मुआवजे की मांग

अजमेर: राजस्थान में अजमेर जिले के नसीराबाद के नजदीकी श्रीनगर थाना क्षेत्र के लवेरा गांव में खेत पर बने पानी के हौद में गिरे 13 साल के बच्चे को बचाने के प्रयास में चार युवकों की मौत हो गई। बच्चे को बचाने के प्रयास में जान गंवाने वाले चार लोगों के लिए मुआवजे की मांग को लेकर ग्रामीणों ने शव नहीं उठाया। ग्रामीण व गुर्जर समाज के लोग अपनी मांगों को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। पुलिस और प्रशासन द्वारा प्रयास किए गए लेकिन वे मुआवजे की अपनी मांग पर अड़े हुए हैं।

अभी पढ़ें Bihar: भाजपा सांसद रमा देवी का बड़ा आरोप, मेरे पति की हत्या के पीछे यादव परिवार का हाथ

प्राप्त जानकारी के अनुसार लवेरा गांव स्थित खेत में पानी की हौद में पैर फिसलने से एक बच्चा हौद नुमा कुएं में गिर गया। उसके बाद उसे बचाने के लिए कूदे चार अन्य युवक भी मौत के आगोश में समा गए। हालांकि हौद में गिरे बच्चे को बचा लिया गया है। हादसे के शिकार युवकों को कड़ी मशक्कत के बाद ग्रामीणों ने बाहर निकाला। प्रथम दृष्टया पानी की हौद में जहरीली गैस से इनकी मृत्यु बताई जा रही है।

- विज्ञापन -

घटना की सूचना पर नसीराबाद की उपाधीक्षक पूनम भरगड़ मौके पर पहुंचीं और हादसे के शिकार चार युवकों को नसीराबाद के राजकीय सामान्य अस्पताल की मोर्चरी में पहुंचाया गया। पूर्व विधायक रामनारायण गुर्जर भी हादसे की सूचना पर सीधे अस्पताल पहुंचे और ग्रामीणों की मांग का समर्थन किया।

देवसेना जिलाध्यक्ष सवरलाल गुर्जर ने आरोप लगाया है कि चारों की मौत गैस प्लांट की वजह से हुई है। उन्होंने कहा- कुएं से टंकी में पानी भरते समय बालक सुरेंद्र गिर गया। उसे बचाने के लिए लोग टैंक में चढ़ गए। पास में ही गैस प्लांट है। जहरीली गैस से उसकी मौत हो गई। जब तक मुआवजा नहीं दिया जाता तब तक शवों को नहीं हटाया जाएगा।

अभी पढ़ें MP: नाबालिग युवती का अपहरण कर 15 दिन तक बनाया बंधक, आरोपी गिरफ्तार

लावेरा गांव निवासी 13 वर्षीय सुरेंद्र गुर्जर रविवार दोपहर 3 बजे अपने चाचा शिवराज (21) और महेंद्र (24) के साथ खेत में था। खेलते-खेलते वह खेत में बने टैंक में गिर गया। बच्चे की आवाज सुनकर शिवराज टंकी में कूद गया। शिवराज के नहीं निकलने पर महेंद्र भी टंकी में उतर गया। दोनों की तरफ से कोई हरकत नहीं हुई तो वहां मौजूद शैतान (32) और देवकरण (35) भी टैंक में जा घुसे। इस दौरान चारों की मौत हो गई। मासूम सुरेंद्र के साथ उसे बचाने पहुंचे शेरू और रतनलाल का अजमेर के जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में इलाज चल रहा है।

अभी पढ़ें   देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version