MP में कक्षा 5वीं की आदिवासी छात्रा को शिक्षक ने 2 घंटे तक रखा निर्वस्त्र, इंसानियत शर्मसार

मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के जयसिहंगर के एक शासकीय विद्यालय से एक शिक्षक की शर्मनाक हरकत सामने आई है। आरोपी ने कक्षा 5वीं की बच्ची को घंटों अर्धनग्न रखा।

शहड़ोल: मध्यप्रदेश के शहडोल जिले के जयसिहंगर के एक शासकीय विद्यालय से एक शिक्षक की शर्मनाक हरकत सामने आई है। यहां एक शिक्षक ने स्वछता का संदेश देने के लिए एक कक्षा पांचवी की आदिवासी छात्रा के कपड़े उतरवाकर घण्टों निवस्त्र खड़ा रखा।

मैले कपड़े धोने के लिए किया निर्वस्त्र

आरोप है कि शिक्षक ने बच्ची के मैले कपड़ों को धुलकर खुद को स्वछता मित्र बताया और विभागीय ग्रुप में फोटो शेयर कर दी जो कि अब सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रही है। वहीं शिक्षक की इस घटिया हरकत से नाराज ग्रामीण उसके खिलाफ करवाई की मांग कर रहे हैं। यह पूरा मामला जयसिहंनगर अन्तर्गत पौड़ी गांव के शासकिय प्राथमिक पाठशाला बराटोला का है।

ड्रेस सूख जाने तक बच्ची ने नहीं पहने कपड़े

दरअसल, जन शिक्षा केन्द्र पौड़ी अंतर्गत शासकीय प्राथमिक स्कूल में पढ़ने वाली कक्षा पांचवी की आदिवासी छात्रा स्कूल में गंदा यूनिफॉर्म पहनकर आई। इस पर स्कूल के एक शिक्षक ने आदिवासी बालिका के कपड़े उतरवाकर खुद ही धोने लगे। इस दौरान शिक्षक ने छात्रा को दो घंटे तक निवस्त्र बैठाया। ड्रेस सूख जाने के बाद ड्रेस पहनाकर कक्षा में पढऩे के लिए भेजा। इन सबके पीछे शिक्षक की पीछे शिक्षक को खुद को स्वच्छता मित्र बताते हुए फोटो विभागीय ग्रुप में शेयर कर दिया ,जो अब सोशल मीडिया में वायरल हो रही है । मामले की जानकारी लगने पर ग्रामीणों ने नाराजगी जताते हुए उक्त शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है।

पहले भी प्रताड़ना के आ चुके हैं मामले

आपको बता दें कि शहड़ोल जिले में शिक्षकों द्वारा छात्रों को प्रताड़ित करने का मामला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। अभी हाल में ही स्कूली बच्चों से टॉयलेट साफ कराने के मामले में दो शिक्षक निलंबित होने का मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि एक और मामला बुढ़ार विकासखण्ड अंर्तर्गत शासकीय प्राथमिक पाठशाला बरटोला सकरा स्कूल से सामने भी सामने आया था ,जहां बेरहम शिक्षक ने 5 से 6 वर्ष के मासूम बच्चों के हाथ में फावड़ा देकर स्कूल परिषर में लगी घास फूस की सफाई कराई थी।

इस पर विभाग उक्त शिक्षक को नोटिस जारी करते हुए 24 घण्टे में जवाब तलब करने के निर्देश दिए थे कि एक और मामला सामने आ गया। इसमें शिक्षक ने सारी हदें पार करते हुए आदिवासी छात्रा के कपड़े उतरवाकर घण्टो निवस्त्र खड़ा रखा और छात्रा का ड्रेस धोकर फोटो क्लिक कर खुद को सफाई मित्र बताते हुए फोटो शेयर कर दिया।

- विज्ञापन -

वहीं इस पूरे मामले में शहड़ोल कलेक्टर वन्दना वैद्य का कहना है कि यह मामला भे उनके संज्ञानके आया है। मामले की जांच करा कर शख्त से शख्त कार्यवाही की जाएगी।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version