Kanpur: क्लर्क ने रूठी पत्नी को मनाकर लाने के लिए लिखी ‘दर्दभरी चिट्ठी’, विभाग ने कहा- अवकाश स्वीकृत… जाओ

उत्तर प्रदेश के कानपुर में छुट्टी के लिए विभाग को लिखा एक प्रार्थनापत्र वायरल हो रहा है। इसमें एक कर्मचारी ने अपने विभाग के लिए लिखा है कि उसकी पत्नी रूठ कर मायके चली गई है। अपने साथ बच्चो को भी ले गई है।

Kanpur: उत्तर प्रदेश के कानपुर में छुट्टी के लिए विभाग को लिखा एक प्रार्थनापत्र वायरल हो रहा है। इसमें एक कर्मचारी ने अपने विभाग के लिए लिखा है कि उसकी पत्नी रूठ कर मायके चली गई है। अपने साथ बच्चों को भी ले गई है। पत्नी को मनाने के लिए उसे तीन दिन की छुट्टी चाहिए। इस पर अधिकारी ने छुट्टी स्वीकृत कर दी है। साथ ही छुट्टी मांगने के इस कारण और पत्र की भाषा की जांच भी कराई जा रही है।

कानपुर के शिक्षा विभाग में तैनात है क्लर्क

दरअसल मामला कानपुर जिले के शिक्षा विभाग का है। खंड शिक्षा अधिकारी कार्यालय, प्रेम नगर में शमशाद अहमद क्लर्क के पद पर तैनात हैं। उनका विभाग को छुट्टी के लिए लिखा प्रार्थनापत्र वायरल हुआ है। पत्र में लिखा है, ‘पत्नी से प्यार-मोहब्बत की बात को लेकर तकरार हो गई। पत्नी बड़ी बेटी और उसके दो बच्चों को लेकर रुष्ट होकर मायके चली गई। जिसके कारण प्रार्थी मानसिक रूप से आहत है। उसे मायके से मनाकर लाने के लिए गांव जाना पड़ रहा है। दिनांक 04-08-2022 से 06-08-2022 तक का आकस्मिक अवकाश स्वीकृत करने के साथ स्टेशन छोड़ने की अनुमति प्रदान करने की कृपा करें। -शमशाद अहमद’

अधिकारी ने स्वीकृत की छुट्टी

वहीं शमशाद अहमद का कहना है कि वह छुट्टी चाहते थे, लेकिन मिल नहीं रही थी। लिहाजा उन्होंने अपने परिवार की वास्तविक स्थिति बताते हुए तीन दिन के अवकाश की मांग की है। वहीं पत्र के वायरल होने के बाद खंड शिक्षा अधिकारी दीपक अवस्थी ने उनकी छुट्टी स्वीकृत कर दी हैं। साथ ही स्टेशन छोड़ने की अनुमति भी दे दी है। सूत्रों के मुताबिक अवकाश के लिए इस तरह की भाषा इस्तेमाल करने की जांच कराई जा रही है। वहीं अधिकारियों का कहना है कि दो अगस्त को अवकाश मांगा गया था, तीन को स्वीकृत कर दिया गया है।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version