इस्लामिक संगठन ने जम्मू-कश्मीर के स्कूलों में भजन, सूर्य नमस्कार पर प्रतिबंध लगाने की मांग की

महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया था जिसमें कुलगाम में स्कूली बच्चे 'रघुपति राघव राजा राम' भजन गाते नजर आ रहे हैं।

नई दिल्ली: इस्लामिक संगठन मुत्ताहिदा मजलिस-ए-उलेमा (MMU) ने राज्य सरकार और शिक्षा विभाग से जम्मू-कश्मीर के स्कूलों में भजन और सूर्य नमस्कार पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। MMU कश्मीर में लगभग 30 इस्लामिक धार्मिक और शैक्षिक संगठनों का एक समूह है। बता दें कि इससे पहले जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने दावा किया कि मुस्लिम छात्रों को स्कूलों में भजन गाने के लिए मजबूर किया जाता है।

अभी पढ़ें – Breaking: सुरक्षा बलों ने कश्मीर में दो आतंकियों को किया ढेर, कई हथियार बरामद

पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने दावा किया था कि भाजपा जम्मू-कश्मीर में अपने हिंदुत्व के एजेंडे को मुस्लिम बच्चों को स्कूल में भजन गाने के लिए मजबूर कर रही है।

मुफ्ती ने क्या ट्वीट किया था?

महबूबा मुफ्ती ने अपने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया था जिसमें कुलगाम में स्कूली बच्चे ‘रघुपति राघव राजा राम’ भजन गाते नजर आ रहे हैं। मुफ्ती ने लिखा था कि धार्मिक विद्वानों को जेल में डालना, जामा मस्जिद को बंद करना और यहां स्कूली बच्चों को हिंदू भजन गाने के लिए निर्देशित करना कश्मीर में भारत सरकार के वास्तविक हिंदुत्व के एजेंडे को उजागर करता है।

यह सवाल करते हुए कि भाजपा ने ‘लब पे आती है दुआ’ को ‘भजन’ से क्यों बदल दिया? पीडीपी प्रमुख ने कहा, “उन्होंने ‘लब पे आती है’ को क्यों रोका? यह एक धार्मिक गीत नहीं था, लेकिन अब उन्होंने इसे भजन से बदल दिया है। वे क्या करना करना चाहते हैं?”

फारूक अब्दुल्ला ने महबूबा दावों को खारिज किया

उधर, नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला ने महबूबा मुफ्ती के हिंदुत्व के दावे का खंडन किया था। अब्दुल्ला ने कहा था कि हम द्वि-राष्ट्र सिद्धांत में विश्वास नहीं करते थे। भारत सांप्रदायिक नहीं है और भारत धर्मनिरपेक्ष है। मैं भजन का जाप करता हूं। अगर मैं भजन कर रहा हूं, तो क्या यह गलत है? उन्होंने कहा कि अगर कोई हिंदू अजमेर दरगाह जाता है, तो क्या वह मुसलमान में तब्दील हो जाएगा?

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती के आरोपों पर भाजपा ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी थी। जम्मू-कश्मीर इकाई के अध्यक्ष रविंदर रैना ने मुफ्ती पर राजनीतिक हितों के लिए यहां के युवाओं के दिमागों में जहर भरने का आरोप लगाया।

अभी पढ़ें – Pakistan Zindabad के नारों पर RJD नेता शिवानंद तिवारी का बयान, कहायह विरोध का हिस्सा, नारे लगाने वाले पाकिस्तानी नहीं 

रैना ने कहा, “महबूबा को इस तरह की राजनीति करने से बचना चाहिए। उन्होंने कश्मीर में अपनी राजनीतिक जमीन खो दी है और घाटी के लोगों ने उन्हें खारिज कर दिया है। वह (अपनी जगह वापस पाने के लिए) इस तरह की साजिश के साथ सामने आ रही हैं।

अभी पढ़ें –  देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version