TrendingRajkot Firehardik pandyalok sabha election 2024IPL 2024Char Dham YatraUP Lok Sabha Election

---विज्ञापन---

गुजरात की इस सीट से तय हो जाती है देश की सरकार, रोचक है ये संयोग

Gujarat Lok Sabha Election 2024 : देश में लोकसभा चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं। राजनीतिक दलों ने चुनाव प्रचार तेज कर दिया है। गुजरात की इस सीट से देश की सरकार तय हो जाती है। आइए जानते हैं कि वलसाड का क्या है चुनावी समीकरण?

Edited By : Deepak Pandey | Updated: Apr 13, 2024 23:18
Share :
क्या है वलसाड सीट का चुनावी समीकरण?

Gujarat Lok Sabha Election 2024 (भूपेंद्र सिंह ठाकुर) : गुजरात की वलसाड सीट को लेकर कहा जाता है कि यहां से जिस पार्टी की जीत होती है, उसकी ही केंद्र में सरकार बनती है। अरब सागर के क‍िनारे स्‍थ‍ित वलसाड जिला उत्तर में नवसारी से और पूर्व में महाराष्ट्र के नासिक से सीमा साझा करता है। यहां तीथल बीच पर पर्यटक आते हैं। यहां के मछुआरों का महाराष्ट्र से अच्छा खासा कारोबार होता है। यहां के केसर-आम काफी फेमस हैं।

वलसाड में सात विधानसभा सीटें आती हैं

भारत की चुनावी राजनीति में गुजरात का वलसाड लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र अपना महत्वपूर्ण स्थान रखता है। वलसाड सीट में डांग, वांसदा, धरमपुर, वलसाड, पारदी, कपराडा, उम्बरगांव सहित 7 विधानसभा क्षेत्र आते हैं। इनमें वलसाड विधानसभा सीट पर कांग्रेस उम्‍मीदवार ने जीत हास‍िल की थी, बाकी सभी सीटों पर भाजपा का कब्‍जा है। इस लोकसभा सीट पर ढोडिया पटेल, कोली पटेल, देसाई और हलपति समाज का लैंगिक समीकरण अहम है।

यह भी पढ़ें : देश में Mutton पर मचा सियासी बवाल, ओडिशा में क्यों खुलेआम चल रही मटन-चावल की दावत

2014-2019 में केसी पटेल ने दर्ज की थी जीत

2019 के आम चुनाव में यहां बहुत मजेदार चुनावी मुकाबला देखने को मिला था। भाजपा के प्रत्याशी डॉ. केसी पटेल ने 3,53,797 वोटों के अंतर से जीत हासिल की थी। उन्हें 61.00% वोट शेयर के साथ 771,980 मत मिले थे। उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार जीतू चौधरी को हराया, जिन्हें 33.15% वोट शेयर के साथ 4,18,183 मत मिले थे। 2014 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के डॉ. केसी पटेल ने ही यह सीट जीती थी और उस वक्त उन्हें 55.00% वोट शेयर के साथ 617,772 मत मिले थे। कांग्रेस उम्मीदवार किशनभाई वेस्ताभाई पटेल को 409,768 वोट (36.48%) मिले और वह उपविजेता रहे।

इस सीट पर कांग्रेस का भी रहा था दबदबा

कांग्रेस का कभी वलसाड सीट पर दबदबा हुआ करता था। 1957 में यहां पहली बार चुनाव हुए थे, जिसमें कांग्रेस के नानुभाई पटेल ने जीत हास‍िल की थी। 1996 में यहां पहली बार भारतीय जनता पार्टी के मनीभाई चौधरी ने जीत हास‍िल की थी। 1999 तक उनकी जीत का स‍िलस‍िला जारी रहा। 2004 और 2009 में यहां कांग्रेस के क‍िशन भाई विजयी रहे। 2014 से इस सीट पर भाजपा के केसी पटेल काब‍िज हैं।

इस चुनाव में धवन पटेल और अनंत पटेल आमने-सामने

वलसाड की जनसांख्यिकी विविधताओं से भरी है और चुनावी नजरिए से यह गुजरात के लोकसभा क्षेत्रों में रोचक और अहम है। इस निर्वाचन क्षेत्र में 2019 के लोकसभा चुनाव में 75.21% मतदान हुआ था। इस चुनाव 2024 में वलसाड लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी से धवल पटेल और कांग्रेस से अनंतभाई पटेल आमने-सामने हैं। वलसाड में 8,17,833 पुरुष और 8,53,183 महिला वोटर हैं। थर्ड जेंडर के मतदाता 14 हैं।

कौन हैं धवल पटेल

धवल पटेल सोशल मीडिया पर एक जाना-माना नाम है। धवल पटेल बीजेपी के अनुसूचित जनजाति मोर्चा के राष्ट्रीय सोशल मीडिया प्रभारी रह चुके हैं। उन्होंने एसवीएनआईटी सूरत से बीटेक और सिम्बायोसिस पुणे से एमबीए की डिग्री हासिल की। उन्होंने कंप्यूटर इंजीनियर के रूप में काम किया है। उन्होंने अमेरिका, यूरोप, दक्षिण पूर्व एशिया और मध्य पूर्व में भी काम किया। 2021 में उन्होंने नौकरी छोड़ दी और बीजेपी के साथ काम करना शुरू कर दिया। वह मूलरूप से नवसारी जिले के जरी गांव के निवासी हैं। वह धोडिया पटेल आदिवासी समुदाय से हैं।

यह भी पढ़ें : इजरायली जहाज में फंसे 17 भारतीय नागरिक, ईरान ने किया हाईजैक, सामने आया Video

2013 में पीएम मोदी ने धवल पटेल को ट्विटर पर किया था फॉलो

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2013 में धवल पटेल को ट्विटर पर फॉलो करना शुरू किया था। इसके बाद अमित शाह ने उन्हें ट्विटर पर फॉलो करना शुरू कर दिया। धवल पटेल ने 2014 और 2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के लिए ऑनलाइन प्रचार किया था। धवल पटेल एशिया स्पेसिफिक के प्रमुख थे। धवल पटेल ने करीब 35 लाख रुपये के पैकेज वाली नौकरी छोड़ दी और बीजेपी में शामिल हो गए।

कौन हैं अनंत पटेल

कांग्रेस ने वलसाड सीट से अनंत पटेल को चुनावी मैदान में उतारा है। वे कांग्रेस के आंदोलनकारी नेता के रूप में लोकप्रिय हैं। अगर अनंत पटेल की बात करें तो वह वर्तमान में वांसदा से विधायक हैं। उन्होंने 2004 में अपनी राजनीतिक करियर की शुरुआत की थी। तब वो कांग्रेस के जनमित्र बने थे। वे सरपंच, सरपंच एसोसिएशन के महामंत्री, वसदा यूथ कांग्रेस के प्रमुख, तालुका पंचायत के प्रमुख समेत पार्टी के कई अहम पदों पर रह चुके हैं।

First published on: Apr 13, 2024 11:12 PM

Get Breaking News First and Latest Updates from India and around the world on News24. Follow News24 on Facebook, Twitter.

संबंधित खबरें
Exit mobile version