गुजरात दंगों पर अमित शाह के बयान पर ओवैसी का जवाब- ‘2002 में आपने जो सबक सिखाया…’

Asaduddin Owaisi: शाह ने दावा किया कि गुजरात में 2002 में दंगे हुए क्योंकि अपराधियों को कांग्रेस से लंबे समय तक समर्थन मिलने के कारण हिंसा में लिप्त होने की आदत हो गई थी।

Asaduddin Owaisi: AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने गुजरात के जुहापुरा में चुनाव प्रचार के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह पर तीखा हमला किया। ओवैसी का ये हमला केंद्रीय गृह मंत्री के उस बयान पर था जिसमें अमित शाह ने कहा था कि गुजरात में दंगाइयों को 2002 में भाजपा सरकार ने सबक सिखाया था, जिसके बाद दंगाईयों ने आज तक सिर उठाने की हिम्मत नहीं की।

ओवैसी ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, “मैं केंद्रीय गृह मंत्री को बताना चाहता हूं, आपने 2002 में जो सबक सिखाया था, वह यह था कि बिलकिस बानो के बलात्कारियों को आप मुक्त कर देंगे, आप बिलकिस की 3 साल की बेटी अहसान के हत्यारों को मुक्त कर देंगे।” जाफरी मारा जाएगा… कौन सा पाठ हम याद रखेंगे?”

ओवैसी ने कहा कि केंद्रीय गृह मंत्री कह रहे हैं कि उन्होंने सबक सिखाया। अमित शाह साहब, आपने क्या सबक सिखाया कि दिल्ली में सांप्रदायिक दंगे हुए?

अमित शाह ने क्या कहा था

1 और 5 दिसंबर को राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा उम्मीदवारों के समर्थन में खेड़ा जिले के महुधा शहर में एक रैली को संबोधित करते हुए अमित शाह ने आरोप लगाया, “गुजरात में कांग्रेस के शासन के दौरान (1995 से पहले) सांप्रदायिक दंगे बड़े पैमाने पर हुए थे। कांग्रेस अलग-अलग लोगों को भड़काती थी। समुदायों और जातियों को एक दूसरे के खिलाफ लड़ने के लिए ऐसे दंगों के माध्यम से कांग्रेस ने अपने वोट बैंक को मजबूत किया और समाज के एक बड़े वर्ग के साथ अन्याय किया।

शाह ने दावा किया कि गुजरात में 2002 में दंगे हुए क्योंकि अपराधियों को कांग्रेस से लंबे समय तक समर्थन मिलने के कारण हिंसा में लिप्त होने की आदत हो गई थी, लेकिन 2002 में उन्हें सबक सिखाने के बाद इन तत्वों ने वह रास्ता (हिंसा का) छोड़ दिया। उन्होंने 2002 से 2022 तक हिंसा में शामिल होने से परहेज किया।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version