News24 Hindi

केस वापस ले लो वरना…इनकार किया तो स्टील पाइप से इतना पीटा, महिला ने तड़प-तड़प कर तोड़ दिया दम

Dalit woman Brutal Murder in Bhavnagar: गुजरात के भावनगर से एक दलित महिला की निर्मम हत्या का मामला सामने आया है। यहां 4 लोगों ने मिलकर एक दलित महिला के साथ मारपीट की और उसे मौत के घाट उतार दिया। बताया जा रहा है कि महिला ने 3 साल पहले अपने बेटे के खिलाफ हुए अत्याचार के केस को वापस लेने से मना कर दिया था, जिसके लिए आरोपियों ने उसके साथ पहले मारपीट की, फिर उसे जान से मार दिया। पुलिस ने चारों आपोरियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

मतक महिला की पहचान गीताबेन मारू के रूप में हुई है, वहीं आरोपियों की पहचान शैलेश कोली, उसके दोस्त रोहल कोली और उनके 2 अज्ञात साथियों के तौर पर हुई है।

इलाज के दौरान महिला ने तोड़ा दम 

मामले की जांच कर रहे हैं पुलिस उपाधीक्षक आरआर सिंघल ने बताया कि रविवार रात को गीताबेन मारू ने हत्या से पहले चारों आरोपियों के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी। अपनी शिकायत ने गीताबेन मारू ने बताया कि शैलेश कोली, उसके दोस्त रोहल कोली और उनके दो अज्ञात साथियों ने उन पर स्टील पाइप से हमला किया है। रविवार को हमले में घायल हुई गीताबेन मारू ने सोमवार को सर तख्तसिंहजी जनरल अस्पताल में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। पुलिस ने चारों आरोपियों के खिलाफ हत्या, हमला और आपराधिक धमकी का मामला दर्ज किया गया है।

लेटेस्ट खबरों के लिए फॉलो करें News24 का WhatsApp Channel

अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन

पुलिस ने बताया कि मारू की मौत के बाद उसके परिवार और स्थानीय दलित नेताओं ने भावनगर के अस्पताल के बाहर विरोध प्रदर्शन किया। परिवार वालों ने तब तक मारू के शव हस संस्कार करने से इनकार कर दिया जब तक कि चारों आरोपी को गिरफ्तार नहीं हो जाते। FIR के मुताबिक, मारू को कई फ्रैक्चर और चोटें आईं है। इसके अलावा आरोपियों ने मारू के पति और बेटी को भी धमकी दी, जिससे वो भागने पर मजबूर हो गए।

यह भी पढ़ें: CBSE Date Sheet 2024: 10वीं-12वीं की डेटशीट और रोल नंबर को लेकर बड़ा अपडेट

कांग्रेस विधायक का पोस्ट 

इस मामले को लेकर कांग्रेस विधायक जिग्नेश मेवाणी ने अपने X पर एक पोस्ट शेयर कि, जिसमे उन्होंने लिखा कि ‘गुजरात में दलित हत्या और अत्याचार का एक और मामला सामने आया है। कोविड लॉकडाउन के दौरान, भावनगर जिले के एक युवक गौतम मारू पर असामाजिक तत्वों द्वारा हमला किया गया था। फिर पुलिस में शिकायत दर्ज की गई…जैसे ही मामला अदालत में पहुंचा, आरोपी ने डर के मारे शिकायतकर्ता को समझौते के लिए धमकाना शुरू कर दिया।’ अपने एक दूसरी पोस्ट में उन्होने लिखा-‘गौतम के परिवार ने समझौते से इनकार कर दिया और अदालत से न्याय मांगा। आरोपियों ने गौतम की मां गीताबेन पर हमला किया। उसे भावनगर सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसने दम तोड़ दिया। संविधान दिवस के दिन हुआ यह हमला राज्य में गुंडों के बढ़ते दुस्साहस पर प्रकाश डालता है।’

Exit mobile version