‘भारत जोड़ो यात्रा’ के बाद कांग्रेस का दूसरा बड़ा अभियान, 26 जनवरी से 60 दिनों तक चलेगा ‘हाथ से हाथ जोड़ो’ कैंपेन

KC Venugopal: केसी वेणुगोपाल ने बताया कि पार्टी ने 26 जनवरी से ‘हाथ से हाथ जोड़ो अभियान’ को आयोजित करने का फैसला किया है। यह दो महीने का अभियान होगा

Hath Se Hath Jodo: भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की जारी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ की सफलता के बाद पार्टी की ओर से जल्द ही दूसरे बड़े अभियान का आयोजन किया जाएगा। कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने रविवार को इसकी जानकारी दी। बता दें कि आज दिल्ली में कांग्रेस संचालन समिति की बैठक हुई। बैठक के बाद वेणुगोपाल ने ये जानकारी दी।

उन्होंने बताया कि आज कांग्रेस संचालन समिति की बैठक में हमने दो चीजों पर चर्चा की। पहला ये हमारी पार्टी का पूर्ण सत्र है। हमने फरवरी के दूसरे पखवाड़े में दूसरा सत्र आयोजित करने का फैसला लिया है, जिसका आयोजन रायपुर छत्तीसगढ़ में होगा और ये तीन दिवसीय सत्र होगा। दूसरी चीज, हमने भारत जोड़ो यात्रा के लिए भविष्य की कार्रवाई की समीक्षा की और चर्चा की।

Gujarat Election: वोटिंग के बाद PM मोदी, अमित शाह के ‘पैदल घूमने’ को लेकर EC से शिकायत करेगी कांग्रेस!

26 जनवरी से ‘हाथ से हाथ जोड़ो’ अभियान

केसी वेणुगोपाल ने बताया कि पार्टी ने 26 जनवरी से ‘हाथ से हाथ जोड़ो अभियान’ को आयोजित करने का फैसला किया है। यह दो महीने का अभियान होगा।

इस अभियान के तहत देश के सभी ग्राम पंचायतों और बूथों को कवर करने के लिए ब्लॉक-स्तरीय यात्राएं और पार्टी इस यात्रा के मूल संदेश के बारे में एक पत्र सौंपेगी। इस ब्लॉक स्तरीय यात्रा के दौरान ध्वजारोहण भी होगा।

मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता में हुई बैठक

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की संचालन समिति की आज सुबह 10 बजे 24 अकबर रोड, नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता में बैठक हुई। संचालन समिति के एक बयान में कहा गया है, समिति ने सर्वसम्मति से संकल्प लिया कि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का 85वां पूर्ण सत्र फरवरी 2023 की दूसरी छमाही में रायपुर में आयोजित किया जाएगा।

Gujarat Election: हार्दिक पटेल ने वोट डालने के बाद किया दावा, बोले- बीजेपी इस बार 150 सीटें जीतेगी

समिति ने भारत जोड़ो यात्रा की भारी सफलता और लाखों लोगों की व्यापक भागीदारी को नोट किया। यात्रा हर दिन समाज के सभी वर्गों के लोगों, विशेष रूप से युवाओं, महिलाओं, किसानों और श्रमिक वर्ग के लोगों को सुनती है और उनसे बात करती है, बंधुत्व और सद्भाव के अपने संदेश को सीधे संवाद करती है।

बयान में आगे कहा गया है कि यात्रा वही संदेश दे रही है जो भारत के आध्यात्मिक नेताओं और समाज सुधारकों ने उपदेश दिया।

और पढ़िए –देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version