चंडीगढ़ की घटना पर कांग्रेस सांसद ने पंजाब के CM को घेरा, कहा- मान को ट्विटर चलाने के बजाए…

पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों से शांत रहने की अपील की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।

Chandigarh incident: कांग्रेस की सीनियर नेता और राज्यसभा सांसद रंजीत रंजन ने चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की कुछ छात्राओं के कथित आपत्तिजनक वीडियो के लीक होने पर रविवार को गहरी चिंता व्यक्त की। इस दौरान उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री को सिर्फ ट्वीट करने के बजाए यूनिवर्सिटी कैंपस में जाकर पूरी घटना की जानकारी लेनी चाहिए।

अभी पढ़ें Danish Rizwan: HAM पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता दानिश रिजवान ने दिया इस्तीफा, महिला ने लगाया है दुष्कर्म का आरोप

न्यूज एजेंसी ANI से बात करते हुए रंजीत रंजन ने कहा कि मुझे लगता है कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को यूनिवर्सिटी कैंपस में जाकर छात्रों से मिलना चाहिए, किस तरह की घटना हुई, जाकर उनसे बात करें। अगर आप नहीं जा सकते तो मैं जरूर जाऊंगी। उन्होंने कहा कि इस मामले में सख्त कार्रवाई होनी चाहिए क्योंकि यह एक संवेदनशील मुद्दा है और इसे हल्के में नहीं लिया जाना चाहिए।

रंजीत रंजन ने पूछा- किस तरह की जांच होगी?

रंजीत रंजन ने इस घटना के बारे में सिर्फ ट्वीट करने के लिए पंजाब के सीएम को भी आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा कि यह ट्विटर चलाने का समय नहीं है। यह महिलाओं और छात्रों से जुड़ा मामला है, यह एक बहुत ही गंभीर मुद्दा है। एक तरफ आप उच्च स्तरीय जांच के बारे में बात कर रहे हैं और दूसरी तरफ प्रो वाइस यूनिवर्सिटी के चांसलर का कहना है कि कुछ नहीं हुआ। इस तरह किस तरह की जांच होगी?’

बता दें कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की छात्राओं के कथित आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने के बीच पंजाब के मुख्यमंत्री ने उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए हैं और सभी से अफवाहों से बचने की अपील की है। छात्राओं के कथित आपत्तिजनक वीडियो वायरल होने के बाद शनिवार रात मोहाली में चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के छात्रों द्वारा बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन किया गया।

पुलिस ने आत्महत्या के प्रयास के दावों का किया खंडन

विरोध कर रहे छात्रों का आरोप है कि एक छात्रा ने हॉस्टल में नहाते हुए अन्य छात्राओं का वीडियो बनाया। बाद में इस वीडियो को सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया। प्रदर्शनकारी छात्रों ने यह भी दावा किया कि वीडियो वायरल होने के बाद हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं ने आत्महत्या का प्रयास किया। हालांकि, पुलिस ने आत्महत्या के प्रयास के दावे का खंडन किया है। पंजाब के उच्च शिक्षा मंत्री गुरमीत सिंह मीत हेयर ने मामले की गहन जांच के आदेश दिए हैं।

अभी पढ़ें Chandigarh University: 19 और 20 सितंबर को चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी बंद रहेगी

उच्च शिक्षा मंत्री ने डीसी और एसएसपी को दिए जांच के आदेश

उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी की घटना के बारे में जानने के बाद मुझे दुख हुआ। चूंकि यह मामला बहुत संवेदनशील है, इसलिए मेरा अनुरोध है कि किसी भी निराधार खबर को आगे न बढ़ाएं। किसी भी छात्रा द्वारा आत्महत्या की कोई खबर नहीं है। मैं विश्वविद्यालय के छात्रों विशेष रूप से लड़कियों को न्याय का आश्वासन देता हूं। डीसी मोहाली और एसएसपी को पूरी घटना की गहन जांच करने का आदेश दिया गया है। दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

वहीं, पंजाब के स्कूल शिक्षा मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्रों से शांत रहने की अपील की है और उन्हें आश्वासन दिया है कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। मंत्री ने एक ट्विटर पोस्ट में कहा, “मैं चंडीगढ़ विश्वविद्यालय के सभी छात्रों से नम्रतापूर्वक शांत रहने का अनुरोध करता हूं। किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। यह एक बहुत ही संवेदनशील मामला है और हमारी बहनों और बेटियों की गरिमा से संबंधित है।”

अभी पढ़ें   देश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

Click Here – News 24 APP अभी download करें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version