Chhattisgarh: सीएम भूपेश ने ग्रामीणों की शिकायत पर अफसरों को लगाई क्लास, समस्याओं के निराकरण के दिए निर्देश

छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तहत कवर्धा जिले के दौरे पर हैं। उन्होंने शनिवार को पंडरिया में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली।

कवर्धा: छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के तहत कवर्धा जिले के दौरे पर हैं। उन्होंने शनिवार को पंडरिया में जिला स्तरीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। इस दौरान उन्होंने इंदौरी और कुकदूर में ग्रामीणों से मिली शिकायतों, समस्याओं का जल्द निराकरण करने के निर्देश दिए।

सीएम बघेल ने इंदौरी और कुकदूर में छत्तीसगढ़ सार्वभौम पीडीएस के तहत संचालित शासकीय उचित मूल्य दुकानों में शक्कर निर्धारित 17 रुपए प्रतिकिलो की दर से अधिक दर 20 रुपये में विक्रय होने की शिकायत को गंभीरता से लिया। समितियों के विक्रेता के विरुद्ध मिली शिकायतों की जांच कर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। जिला खाद्य अधिकारी को सतत रूप से शासकीय उचित मूल्य दुकानों अथवा अन्य समूह द्वारा संचालित दुकानों का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।

अभी पढ़ें अरुणाचल प्रदेश के तीन जिले ‘अशांत क्षेत्र’ घोषित, AFSPA की मियाद बढ़ी

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुख्यमंत्री हाट-बाजार क्लीनिक योजना की समीक्षा कर इस योजना से कबीरधाम जिले के सुदूर वनांचल क्षेत्रों में संचालित साप्ताहिक हाट बाजारों को जोड़ने के निर्देश दिए। अंतिम व्यक्तियों को मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक योजना का लाभ मिल सके, इस उद्देश्य से कार्य करने के निर्देश दिए।

बैठक में जलजीवन मिशन के काम की जानकारी लेते हुए सीएम बघेल ने जिले के आदिवासी एवं बैगा बाहुल्य बोड़ला और पंडरिया के दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों में पेयजल व्यवस्था जैसे हैंडपंप और पेयजल के अन्य स्रोतों की जानकारी ली। जिले के वनांचल क्षेत्रों में विद्युत विस्तार की समीक्षा करते हुए छूटे हुए गांव, मजरा टोला में बिजली लाइन विस्तार करने के निर्देश दिए।

अभी पढ़ें ’10 बजे के बाद कानून का उल्लंघन नहीं करूंगा, माफी मांगता हूं, फिर आऊंगा’, राजस्थान में बोले PM मोदी

बैठक में सीएम भूपेश बघेल ने राज्य सरकार की प्राथमिकता में शामिल गोधन न्याय योजना की समीक्षा करते हुए आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि जिले में 303 गौठान संचालित हैं, 12 आवर्ती चारागाह हैं। सीएम ने ग्राम नरसिंगपुर में आवर्ती चाराई करने के निर्देश दिए। सीएम ने मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान की समीक्षा की। जिले में एनीमिक महिलाओं की जानकारी ली।

जिला स्वास्थ्य अधिकारी ने बताया कि जिले में मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक के माध्यम से स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए एनीमिक पीड़ित माताओं, महिलाओं की काउंसलिंग की जा रही है। सीएम ने पोषण आहार के प्रति लोगों में जागरूकता लाने और उसे आदत में शामिल करने पर जोर देने के निर्देश दिए।

 

अभी पढ़ें – प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version