BJP के लिए जीतन राम मांझी का उमड़ा प्रेम, बोले- NDA में नीतीश की वापसी पर होगी खुशी, जानें क्या हैं इसके मायने

Bihar Politics: जीतन राम मांझी ने कहा कि महागठबंधन में अभी सरकार चलाने में अभी जैसे बयानबाजी हो रही है यदि नीतीश कुमार को लगता है कि सरकार चलाने में उन्हें परेशानी हो रही है और उनका रिश्ता बीजेपी के साथ बेहतर है।

सौरभ कुमार, पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जेडीयू और बीजेपी के रिश्ते को लेकर प्रशांत किशोर के बाद जीतन राम मांझी का बड़ा बयान सामने आया है। भाजपा के लिए जीतन राम मांझी का प्रेम एक बार फिर उमड़ा है। उन्होंने कहा है कि नीतीश कुमार अगर एक बार फिर एनडीए के साथ जाते हैं तो मुझे खुशी होगी।

बिहार में महागठबंधन के घटक दल हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा है कि राजनीति में कुछ भी संभव है। जीतन राम मांझी ने कहा कि महागठबंधन में अभी सरकार चलाने में अभी जैसे बयानबाजी हो रही है यदि नीतीश कुमार को लगता है कि सरकार चलाने में उन्हें परेशानी हो रही है तो उनका रिश्ता बीजेपी के साथ बेहतर है।

अभी पढ़ें – मध्य प्रदेश: साढ़े 4 लाख परिवारों को पीएम मोदी देंगे नए घर का तोहफा, ‘गृह प्रवेशम’ कार्यक्रम में वर्चुअली शामिल होंगे

जीतन राम मांझी ने कहा कि राज्य के विकास के लिए वह फिर बीजेपी से हाथ मिलाते हैं तो हम उनका स्वागत करते हैं। जीतन राम मांझी ने कहा कि यदि नीतीश कुमार बिहार के विकास के लिए पाला बदलना चाहते हैं तो हम उनके साथ हमेशा खड़ा रहेंगे।

मांझी के बयान के बाद गरमाई बिहार की सियासत

जीतन राम मांझी के बयान के बाद बिहार की सियासत गरमा गई। कांग्रेस, आरजेडी , BJP और जदयू की ओर से प्रतिक्रिया आई है। बीजेपी प्रवक्ता अरविंद सिंह का कहना है जीतन राम मांझी का यह अपना बयान हो सकता है लेकिन अब नीतीश कुमार के लिए भाजपा में स्टॉप का बिंदु लग चुका है, अब पुनः भारतीय जनता पार्टी में कोई स्थान नहीं है।

- विज्ञापन -

वहीं, जेडीयू प्रवक्ता अभिषेक झा का कहना है कि बिहार के हित में और जेडीयू के हित में नीतीश कुमार ने पहले ही फैसला ले लिया है। हमारा दल महागठबंधन में शामिल हो गया है। महागठबंधन में 7 पार्टियां हैं। भारतीय जनता पार्टी के साथ जाने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता।

वहीं, कांग्रेस प्रवक्ता असित नाथ तिवारी ने कहा है कि उन्होंने जीतन राम मांझी का बयान भी नहीं सुना। नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव, कांग्रेस पार्टी, वामदल यह अटूट गठबंधन है। बाकी एक दो जो अन्य सहयोगी हैं, वे हमारे साथ हैं। जब तक साथ रहेंगे, हम सम्मान करेंगे। उनका मन अगर डोल रहा है तो हम किसी को रोक नहीं सकते।

आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार ने साफ कहा है कि वह जीवन भर बीजेपी के साथ नहीं जाने वाले हैं इसलिए इस तरीके के बयानों का कोई मतलब नहीं है।

अभी पढ़ें दिल्ली में राजस्थान भाजपा कोर कमेटी की बैठक शुरू, अमित शाह भी मौजू

प्रशांत किशोर ने दिया था ये बयान

बता दें कि इससे पहले प्रशांत किशोर ने दावा किया था कि नीतीश कुमार अभी भी पिछले दरवाजे से भाजपा की मदद कर रहे हैंं। प्रशांत किशोर ने दावा किया था कि नीतीश कुमार अभी भी भाजपा के संपर्क में हैं, चुनावी रणनीतिकार ने शनिवार को जद (यू) को चुनौती दी कि वह अपनी पार्टी के सांसद हरिवंश को राज्यसभा के उपसभापति का पद छोड़ने के लिए कहें।

प्रशांत किशोर के इस दावे के बाद नीतीश कुमार ने कहा था कि वे (प्रशांत किशोर) इस तरह के बयान सिर्फ अपने प्रचार के लिए देते हैं। उन्होंने कहा, ‘इस पर मैं क्या कहूं…वह (प्रशांत) बकवास करता रहता है। वह इस तरह के बयान सिर्फ अपनी पब्लिसिटी के लिए देते हैं। हर कोई जानता है कि वह किस पार्टी के लिए काम कर रहे हैं।”

अभी पढ़ें प्रदेश से जुड़ी खबरें यहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version