Aurangabad: बीवी को मायके भेजकर दूसरी शादी करने वाला था ‘तेजस्वी’, बारात से पहले धमक पड़ी पत्नी, फिर ये हुआ…

Aurangabad: सोमवार को बारात निकलने वाली थी। लेकिन इस बात की भनक डिंपल को लग गई। वह मायकेवालों को साथ लेकर अपने ससुराल आ धमकी।

Aurangabad: बिहार के औरंगाबाद (Aurangabad) में तेजस्वी नाम का शख्स पत्नी को मायके भेजकर दूसरी शादी करने जा रहा था। लेकिन इसकी भनक पत्नी को लग गई। वह बारात निकलने से पहले ससुराल आ धमकी। पत्नी ने हंगामा शुरू कर दिया।

यह देख पति घर के भीतर दुबक गया और ससुरालवालों ने घर के सभी दरवाजे बंद कर लिए। घर में एंट्री न पाकर बहू दरवाजे के बाहर धरने पर बैठ गई। इस हाईवोल्टेड ड्रामे की भनक पाकर पुलिस भी पहुंची है। लोगों को समझाने का प्रयास किया, लेकिन बात नहीं बनी। अब पुलिस कार्रवाई करने के मूड में है।

तीन साल पहले हुई थी शादी

औरंगाबाद के कुटुंबा प्रखंड में अंबा थाना के परता गांव निवासी डिंपल की शादी एक मार्च 2020 को गोपाल पांडेय के पुत्र तेजस्वी के साथ हुई थी। डिंपल ने बताया कि शादी के कुछ दिनों तक तो सबकुछ ठीक था। लेकिन उसके बाद विवाद शुरू हो गया। ससुराल वाले भी प्रताड़ित करने लगे। हाल ही में डिंपल को उसके पति तेजस्वी ने उसके मायके हसपुरा थाना क्षेत्र के तिलकपुरा भेज दिया। इसी बीच इस बीच उसने अपनी दूसरी शादी तय कर ली।

और पढ़िए –Assam Child Marriage: असम में बाल विवाह के खिलाफ ताबड़तोड़ गिरफ्तारियां, जानें कब तक जारी रहेगी कार्रवाई

आज यानी सोमवार को बारात निकलने वाली थी। लेकिन इस बात की भनक डिंपल को लग गई। वह मायकेवालों को साथ लेकर अपने ससुराल आ धमकी। विवाहिता ने वहां जमकर बवाल काटा।

- विज्ञापन -

बवाल से तेजस्वी का दूसरी शादी रचाने का अरमान फुस्स हो गया। वह घर से शादी करने के लिए नहीं निकल सका। ससुराल वालों ने दरवाजा अंदर से बंद कर लिया। विवाहिता को घर में घुसने से रोक दिया। इसके बाद विवाहिता डिंपल अपने पिता जय गोविंद शर्मा, चाचा संतोष शर्मा और गणेश शर्मा के साथ घर के बाहर ही आसन जमा कर बैठ गयी। हालांकि परता पंचायत की मुखिया के प्रतिनिधि देवेन्द्र सिंह ने विवाहिता को घर में रखने के लिए घरवालों से बात की, लेकिन किसी ने उनकी बात नहीं मानी।

पुलिस को शिकायती पत्र देती पीड़िता डिंपल।

डिंपल ने एसपी को किया फोन तो दौड़ पड़ी पुलिस

डिंपल ने औरंगाबाद की एसपी स्वपना गौतम मेश्राम को इसकी जानकारी दी। एसपी के निर्देश पर अम्बा थानाध्यक्ष रमेश कुमार सिंह, पुलिस पदाधिकारी सिमरन राज के साथ गांव पहुंचे और ससुराल वालों को समझाने बुझाने का प्रयास किया। इसके बावजूद ससुराल वालों ने घर का दरवाजा नहीं खोला।

और पढ़िए –Encroachment Drive: ‘कश्मीर में अफगानिस्तान जैसे हालात’…महबूबा मुफ्ती का मोदी सरकार पर हमला, उमर अब्दुल्ला भी बरसे

इसके बाद पुलिस विवाहिता व परिजनों को लेकर अम्बा आई। इसके बाद आगे की कार्रवाई के लिए उन्हे औरंगाबाद महिला थाना भेज दिया। पीड़िता ने महिला थाना में ससुराल में खुद को रखे जाने की मांग करते हुए आवेदन दिया है। महिला थाना की पुलिस आगे की कार्रवाई में जुटी है।

महिला थानाध्यक्ष कुमकुम कुमारी ने बताया कि मामला उनके संज्ञान में है। अम्बा थाना की पुलिस के पहल से शादी रुक गई है। विवाहिता को महिला थाना की पुलिस उसके ससुराल पहुंचाएंगी। ससुराल वालों के नही मानने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएंगी।

यह भी पढ़ें: बिहार: कटिहार में नीतीश कुमार की समाधान यात्रा में बवाल, नाराज लोगों ने किया हंगामा

और पढ़िए –देश से जुड़ीखबरेंयहाँ पढ़ें

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
- विज्ञापन -
Exit mobile version