जीका वायरस से होगा ब्रैन कैंसर का इलाज ?

नई दिल्ली (8 सितंबर):  प्रकृति कभी-कभी ऐसे काम करती है जिसको समझ पाना अच्छे -अच्छे लोगों के वश की बात नहीं। ऐसा ही एक उदाहरण यह है कि जिस जीका वायरस को सबसे घातक माना जा रहा था उसी जीका से दीमागी कैंसर का इलाज संभव है। जी हां,  अमेरिकी वैज्ञानिकों ने चूहों पर अध्ययन कर दावा किया है कि मच्छर से होने वाले ज़ीका वायरस से 'ग्लायोब्लास्टोमा'  दिमागी कैंसर का इलाज हो सकता है। एक शोध अध्ययन से पता चला है कि जीका वायरस शरीर में कैंसर स्टेम सेल्स (कोशिकाएं) को निशाना बनाता है। शोध में कहा गया है कि इस अध्ययन का प्रयोग मनुष्यों पर 18 महीने के अंदर हो सकता है।