'ज़ीका' की चपेट में टाटा कम्पनी, पसोपेश में टॉप मैनेजमेंट

ऩई दिल्ली (2 फरवरी): दिल्ली ऑटो एक्सपो कुछ ही घण्टे बाद शुरु होने वाला है और टाटा की नई कार पर  'ज़ीका' वायरस ने हमला कर दिया है। टाटा के दिल्ली, मुंबई और पूणे में तैनात अधिकारी को हाई एलर्ट पर हैं। सभी से कहा गया है कि ऑटो एक्सपो शुरु होने से पहले 'ज़ीका' का इलाज हो जाना चाहिए। दरअसल, दिल्ली ऑटो एक्सपो में टाटा की नयी हैचबैक 'ज़ीका' को अनवील्ड होने वाली है।

टाटा ने दुनिया के मशहूर फुटबॉलर लियोनी मैसी को इसका ब्रैंड एम्बैसडर भी बनाया है। टाटा को उम्मीद थी कि 'जीका' बहुत अच्छा बिजनैस दे सकती है। लेकिन इसके अनवील्ड होने से पहले ही 'ज़ीका' वायरस का प्रकोप शुरु हो गया है। दुनिया भर में 'ज़ीका' के नाम से ही लोग खौफ़ खाने लगे हैं। इससे टाटा कम्पनी को डर लगने लगा है कि कहीं ज़ीका नाम का गलत असर उनकी कार पर न आ जाये।

टाटा के टॉप ऑफिशियल्स की एक टीम लगातार गहन मंत्रणा में लगी हुई है कि ज़ीका नाम से कितना नुकसान हो सकता है, नाम बदला जाये या नहीं...अभी तक को टाटा पसोपेश में है...कि नयी कार को ज़ीका के नाम से लॉंच किया जाये या नहीं...लेकिन उनके पास नये नाम से कार की पब्लिसिटी करने का पर्याप्त समय भी नहीं है।