रियल एसटेट में लगा है नाइक के एनजीओ का करीब 100 करोड़ रुपया: NIA

नई दिल्ली(19 जनवरी): विवादित इस्लामिक प्रचारक जाकिर नाइक के एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) पर भारत सरकार का शिकंजा कसता ही जा रहा है। जांच एजेंसी एनआईए ने कहा है कि जाकिर नाइक के 78 बैंक खातों पर नजर रखी जा रही है।

- एक बयान में एनआईए ने कहा, 'जाकिर नाइक के उन 78 बैंक खातों पर नजर रखी जा रही है जो भारत में हैं। साथ ही कहा है कि रियल एसटेट में नाइक के एनजीओ का करीब 100 करोड़ रुपये लगा हुए हैं।'

- भारत सरकार ने जाकिर नाइक के एनजीओ आईआरएफ पर प्रतिबंध लगा दिया था। सरकार ने कहा कि नाइक अपने संबोधनों में ओसामा बिन लादेन का गुणगान किया करता था और उसने कहा था कि अगर इस्लाम चाहता तो 80 प्रतिशत भारतीय हिंदू नहीं रह पाते।

- जाकिर नाइक के ठिकानों पर छापेमारी के बाद नेशनल इनवेस्टीगेटिव एजेंसी (एनआईए) ने नाइक की इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) वेबसाइट्स को ब्लॉक कर दिया था। एनआईए ने शनिवार को जाकिर नाइक के इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के खिलाफ दर्ज एक मामले में 10 स्थानों पर छापे मारे थे।

- गृह मंत्रालय ने कहा था कि जाकिर नाइक अपने भाषणों से समाज में घृणा और शत्रुता को बढ़ावा दे रहे थे। साथ ही उन्होंने मुस्लिम युवाओं और विदेशी युवाओं को आतंकी बनने की प्रेरणा दे रहे थे।

-उनके भाषण भारत की अनेकता में एकता की सोच के विरुद्ध है। जो लोगों में देश के खिलाफ जाने के लिये प्रेरित कर रहा है। ऐसे में उनकी हरकते देश विरोधी रही हैं।