जाकिर नाइक मामले में गृह मंत्रालय के चार अधिकारी निलंबित

नई दिल्ली(2 सितंबर): इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक के एनजीओ को एफसीआरए लाइसेंस का नवीनीकरण करने में कथित धांधली के लिए गृह मंत्रालय के एक संयुक्त सचिव सहित चार अधिकारियों को गुरुवार रात निलंबित कर दिया गया। नाईक अपने कथित कट्टरपंथी विचारों के लिए सुरक्षा एजेंसियों की जांच के दायरे में है।

- मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक निलंबित किए गए अधिकारियों में संयुक्त सचिव जी.के. द्विवेदी, दो अवर सचिव और एक अनुभागीय अधिकारी शामिल हैं। गृह मंत्रालय ने पाया कि नाइक के खिलाफ चल रही विभिन्न जांच के बावजूद उसके एनजीओ इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन के एफसीआरए लाइसेंस का हाल में नवीनीकरण किया गया।

- केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू ने ट्वीट किया, 'ऐसे में जब मामला लंबित है, नवीनीकरण को मंजूरी देने में लापरवाही के लिए दो अवर सचिव और एक अनुभागीय अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की गई।'

- एक अन्य ट्वीट में रिजिजू ने कहा कि गृह मंत्रालय का बहुत स्पष्ट मत है कि एफसीआरए लाइसेंस के पंजीकरण या नवीकरण की प्रक्रिया सहज होनी चाहिए, लेकिन तब नहीं जबकि एक मामला लंबित हो। 'हमने एफसीआरए के नवीकरण की प्रक्रिया ऑनलाइन कर दी है।' मुंबई पुलिस भी नाइक के खिलाफ आरोपों की जांच कर रही है।